breaking news New

दो लाख के ईनामी नक्सली सहित 8 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

 दो लाख के ईनामी नक्सली सहित 8 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

आत्मसमर्पित नक्सलियों में एक भरमार बंदूक के साथ किया समर्पण
आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में 01 नक्सली दम्पती भी शामिल

सुकमा। जिला में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत नक्सलियों के जनपितुरी सप्ताह के मध्य जिसमें नक्सली अपने संगठन के लिए नई भर्ती करते हैं, लेकिन ठीक इसके विपरीत शुक्रवार को दो लाख के ईनामी नक्सली वंजाम भीमा सहित 08 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में 01 नक्सली दम्पती भी शामिल है। आत्मसमर्पित नक्सली में से कवासी देवा द्वारा एक भरमार बंदूक के साथ समर्पण किया गया। पुनर्वास नीति के तहत सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों को प्रोत्साहन राशि भी प्रदाय किया गया।
आत्मसमर्पित नक्सलियों में 01. वंजाम भीमा (प्लाटून नंबर 04 में सेक्शन बी का सदस्य ईनामी 02 लाख रूपये), 02. रवि (डीएककेएमएस सदस्य) 03. कोसा (जीआरडी कमांडर), 04. देवा (मिलिशिया सदस्य), 05. दिरदो गंगा (मिलिशिया सदस्य), 06. सोड़ी दुला (मिलिशिया सदस्य), 07. कवासी देवा (मिलिशिया सदस्य), 08. माड़वी कलावती (सीएनएम सदस्या) के द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय सुकमा में सीआरपीएफ डीआईजी योज्ञान सिंह सुकमा कलेक्टर विनित नन्दनवार, सुकमा एसपी के.एल. ध्रुव, धर्मेन्द्र सिंह  कमाण्डेंट 150 वीं वाहिनी सीआरपीएफ, ताशी ग्यालिक कमाण्डेंट दूसरी वाहिनी सीआरपीएफ,  सचिन्द्र चौबे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुकमा के समक्ष आत्मसमर्पण किया गया।
सुकमा कलेक्टर विनीत नंदनवार ने नक्सलियों से अपील करते कहा कि मैं भी बस्तर का रहने वाला हूं, यह लोकतांत्रिक व्यवस्था का ही कमाल हैं, कि मैने सही रास्ता चुना और आज बतौर सुकमा कलेक्टर कार्य कर रहा हूं। इसलिए सही रास्ता चुने और गलत रास्ते का त्याग करें। कलेक्टर ने कहा, हमारे जो लोग समाज की मुख्यधारा से भटक गए हैं, उनसे मेरी अपील हैं कि वापस घर लौटें और मुख्यधारा में जुडक़र एक बेहतर जीवन जिएं।