कोरोना : भारत में अब तक 1 लाख 86 हजार टेस्ट, 20% मरीज गंभीर

कोरोना :  भारत में अब तक 1 लाख 86 हजार टेस्ट,  20% मरीज गंभीर

नईदिल्ली। कोरोना संक्रमण से   सुरक्षा तैयारियों को लेकर  महाराष्ट्र को तीन जोन में बांटा गया है।  रेड जोन में सबसे ज्यादा खतरे वाले जिले हैं, जबकि ऑरेंज में मध्यम और ग्रीन जोन में कम खतरे वाले जिले रखे गए हैं।  महाराष्ट्र में संक्रमित मरीजों की संख्या 1900 के पार पहुंच चुकी है।  यहाँ  अबतक सबसे ज्यादा 127 लोगों की मौत हुई  है। 

पत्रकारों से बातचीत करते हुए एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान कहा कि  14 तारीख़ के बाद प्रदेश के हॉटस्पॉट वाले ज़िलों को छोड़कर लॉकडाउन में रियायतें दी जायेंगी।  ज़िलों की सीमाएं सील ही रहेंगी उनको नही खोला जायेगा।  प्रदेश के तीस ज़िले अभी कोरोना से बचे हैं।  बाक़ी के बाईस ज़िलों में अभी 80 फ़ीसदी भोपाल और इंदौर से ही हैं।  इंदौर में बढ़ी मौतों पर शिवराज ने सफ़ाई देते हुए कहा कि बीमार लोग इतनी देरी से आये की बचाया नहीं जा सका। 

केन्द्रीयस्वास्थ्य  मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया, 9 अप्रैल के आंकड़ों के अनुसार, अगर हमें 1100 बेड की आवश्यकता थी, तो हमारे पास 85,000 बेड थे।  आज जब हमें 1671 बेड की आवश्यकता है, तब हमारे पास 601 कोविड समर्पित अस्पतालों में 1 लाख 5 हज़ार बेड हैं। 

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के डॉ मनोज मुहरेकर ने बताया कि आज तक 1,86,906 टेस्ट किए गए हैं जिसमें से 7953 पॉजिटिव पाए गए हैं, पिछले 5 दिनों में 15,747 प्रति दिन टेस्ट किए गए हैं। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया, आज तक 8356 मामले देशभर में पाए गए हैं, कल से आज तक 909 नए मामले सामने आए हैं।  अभी तक 273 मौत दर्ज की गई हैं।  कुल 716 मामले ठीक हो चुके हैं।  स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 80% केस कम लक्षण वाले हैं।  पिछले 24 घंटों में 34 लोगों की मौत हुई है।  20% मरीज गंभीर हालत में हैं। 

chandra shekhar