breaking news New

धान खरीदी को लेकर किसानों में बेचैनी : ओमप्रकाश जोशी

धान खरीदी को लेकर किसानों में बेचैनी : ओमप्रकाश जोशी

भाजपा की मांग हर हाल में एक नवंबर से प्रारंभ करे धान खरीदी

बेमेतरा। 1 नवंबर से धान खरीदी शुरू करने एमएसपी वृद्धि का लाभ किसानों को देने एवं किसानों के अन्य समस्याओं के समाधान को लेकर भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश जोशी के नेतृत्व में जिला भाजपा पदाधिकारियो ने बेमेतरा कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष राजेन्द्र शर्मा, प्रदेश मंत्री संध्या परगिनहा, जिला महामंत्री विकास धर दीवान, जिला पंचायत अध्यक्ष सुनीता साहू, जिला पंचायत उपाध्यक्ष अजय तिवारी, दयावंत धर बांधे, राजा पांडेय, विजय सिन्हा,परमेश्वर वर्मा आदि उपस्थित रहे। 

जिलाध्यक्ष जोशी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में धान की फसल अब तैयार है लेकिन शासन द्वारा इस सत्र में इस की खरीदी को लेकर किसी तरह की घोषणा नहीं किए जाने से किसानों में बेचैनी है। प्रदेश में मुख्य रूप से महामाया और सरना दो किस्म के धान की खेती होती है !

इसमें महामाया की कटाई नवंबर के पहले सप्ताह में पूरी हो जाएगी और सरना की कटाई भी पहले सप्ताह में ही शुरू हो जाएगी। किसानों को कटाई और मिल जाए के लिए भी पैसों की जरूरत होती है। इसके साथ ही हिंदुओं का प्रमुख त्यौहार दीपावली भी पहले सप्ताह में ही होने के कारण किसानों को पैसों की सबसे अधिक आवश्यकता इसी समय होती है।

पूर्व जिलाध्यक्ष शर्मा ने कहा कि प्रदेश में धान के रकबे को गुपचुप ढंग से कम किए जाने की साजिश भी कांग्रेस सरकार रच रही है अफसरों पर दबाव डाला जा रहा है। कर्मचारियों को जबरन धान का रकबा कम दिखाए जाने का निर्देश दिया जा रहा है। रकबे को काफी कम कर धान खरीदने के अपने कर्तव्य से प्रदेश सरकार बचना चाह रही है।

जिला महामंत्री विकास दीवान ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार फसलों के एमएसपी में वृद्धि करती जा रही है लेकिन छत्तीसगढ़ के किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। कांग्रेस सरकार अपने वादे के अनुसार धान का 25 सो रुपए प्रति क्विंटल कीमत एकमुश्त तो नहीं दे पा रही है . ऊपर से केंद्र द्वारा हर सत्र में जो समर्थन मूल्य बढ़ाया जा रहा है!

उसका भी लाभ किसानों को नहीं दिया जा रहा है। पिछले सत्रों में केंद्र ने धान के समर्थन मूल्य में करीब 300 रुपये की वृद्धि की है इस अनुपात में प्रदेश के किसानों को अगले फसल के लिए न्यूनतम 2800 रुपये प्रति क्विंटल धान की एकमुश्त की उत्कृष्ट देने की घोषणा करना चाहिए।


ज्ञापन में भाजपा ने मांग किया कि धान खरीदी हर हाल में एक नवंबर से प्रारंभ करे, धान की पूरी कीमत का भुगतान एकमुश्त हो। पिछला बकाया भुगतान तुरंत हो,केंद्र द्वारा एमएसपी में लगातार किये गए वृद्धि का लाभ किसानों को देना सुनिश्चित हो, गिरदावरी के बहाने रकबा कटौती पर पूरी तरह रोक लगाए जाएं,कांग्रेस की घोषणा के अनुरूप किसानों का दाना-दाना धान खरीदे जाएं एवं घोषणा पत्र में किये वादे अनुसार किसानों को दो वर्ष का बकाया बोनस दिए जायें।