पीडीएस दुकान में गरीब हितग्राहियों को सितंबर माह का नही मिला चना , अधिकारियों की मिलीभगत से हो रही हेराफेरी

पीडीएस दुकान में गरीब हितग्राहियों को सितंबर माह का नही मिला चना , अधिकारियों की मिलीभगत से हो रही हेराफेरी

मालखरौदा। सकर्रा के स्थानीय पीडीएस दुकान में गरीब हितग्राहियों के सस्ते राशन में हेराफेरी तथा मनमानी थमने का नाम ही नही ले रही है। जिसमें अधिकारियों व् संचालक की मिलीभगत से राशन वितरण ब्यवस्था में गड़बड़ी हो रही है। जबकि माह सिर्फ दो दिन शेस है। जिसके बावजूद माह सितंबर 2020 का चने का वितरण पीडीएस संचालक द्वारा नही की गई। जिसकी वजह से आक्रोशित हितग्राहियों में रोष ब्याप्त है। 

आखिर गरीब हितग्राहियों की हक़ का चना कहा गया,सवालों के घेरे में है. नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारी श्री एक्का से मिली जानकारी के अनुसार क्षेत्र के 75 ग्राम पंचायतों में अक्टूबर माह तक का चना का भंडारण हो गया है कई पंचायत ऐसे थे जहां अगस्त व सितम्बर माह का चना लेट से भेजा गया है जबकी सितंबर अक्टूबर माह का चना प्रायः सभी शासकीय उचित मूल्य की राशन दुकानों में भण्डारण हो गया है लेकिन इस संबंध में स्थानीय सोनादुला व सकर्रा के पीडीएस संचालन नवरत्न चंद्रा का कहना है कि हमारे राशन दुकानों में अभी तक सितम्बर अक्टूबर माह तक चना नहीं पहुंचा है. इस तरह जिम्मेदारों द्वारा कही जा रही है।  जबकि 14 सितंबर को सकर्रा की राशन दुकान में भण्डारण के लिए ट्रक निकला है ऐसे में ट्रक आखिर सकर्रा के राशन दुकान में पहुंचा कि नहीं इसके बारे में जांच पर ही पता चल सकता है कुछ भी हो जब से चना वितरण शुरू हुआ है. 

- क्षेत्र के जिम्मेदार खाद्य निरीक्षक नही करतें निरीक्षण,व् रिसीव नही करतें फोन.कर्तव्यों का नही कर रहे पालन.. उठ रहे सवाल

प्रशासन ने अजय प्रधान खाद्य निरीक्षक को मालखरौदा क्षेत्र के लिए पदस्थापना की है। लेकिन क्षेत्र के जिम्मेदार खाद्य निरीक्षक द्वारा राशन दुकानों का सही तरह से निरीक्षण नहीं किया जा रहा है जिसके कर्तव्यों पर हितग्राही सवाल,उठा रहे है। हितग्राहियों ने बताया की जिम्मेदार खाद्य निरीक्षण द्वारा कभी फोन रिसीव नही किया जाता है। इस स्थिति को देखते हुए बतायें की संबधित जिम्मेदार खाद्य निरीक्षक को राशन वितरण ब्यवस्था से ज्यादा मतलब नही रहता है।

- गरीबों का हितैषी कहे जाने वाले क्षेत्रिय विधायक रामकुमार यादव को भी नही रहता गरीबों का ध्यान

चंद्रपुर विधान सभा के गरीबों का हितैषी कहे जाने वाले क्षेत्रिय विधायक रामकुमार यादव को भी गरीबों का ध्यान नही रह गया है। राशन वितरण में आयेदिन हेराफेरी की जा रही है। जिसकी शिकायते लगातार पहुंच रही है। जिसकी संज्ञान सत्ता पक्ष के विधायक रामकुमार यादव ने भी नही ली है। ग्रामीणों ने बताया की इस सस्ते राशन हम गरीबों के लिए वरदान है। जिस पर हम लोगों की परिवार निर्भर है। 

,,खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम से राशन दुकान में माह सितंबर 2020 का चने का भंडारण करवा दिए है। साथ ही अक्टूबर माह का भी भेज दिए है।  वितरण नही किया है तो ये गलत है।  बार-बार यही शिकायत सामने आ रही है वहां का वितरण करने के लिए निर्देशित करता हूं अगर नही करता हैं तो उचित कारवाई की जाएगी।

एक्का सीजीएससी इंचार्ज अधिकारी बोडासागर

,,राशन दुकान में चने का भंडारण हुआ नही है तो कहा से वितरण करूंगा। अधिकारी चने को भेजे ही नही है। आएगी तो वितरण कर दूंगा।

नवरतन चंद्रा सेल्स मेन राशन दुकान सकर्रा-सोनादुला