breaking news New

गोबर खरीदी में लापरवाही पर होगी कड़ी कार्यवाही

गोबर खरीदी में  लापरवाही पर होगी कड़ी कार्यवाही

 जगदलपुर। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए उत्तम जैविक खाद की उपयोगिता को बढ़ावा देने के लिए शासन द्वारा गौठानों के माध्यम से गोबर खरीदी के साथ ही इससे वर्मी कम्पोस्ट एवं सुपर कम्पोस्ट का निर्माण किया जा रहा है। शासन के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और लापरवाही बरतने पर संबंधित अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। यह बातें कलेक्टर श्री रजत बंसल ने आज जिले में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान समय-सीमा की बैठक में कही।  उन्होंने गौठान समितियों द्वारा तैयार वर्मी कम्पोस्ट एवं सुपर कम्पोस्ट के उठाव में तेजी लाए जाने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि क्रय किए गए गोबर से खाद का निर्माण भी शीघ्र सुनिश्चित किया जाए, जिससे खाद की गुणवत्ता में किसी प्रकार की कमी न आए। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का, सहायक कलेक्टर सुश्री सुरुचि सिंह सहित जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर ने समय-सीमा बैठक में कहा कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा गौठानों को ग्रामीण औद्योगिक पार्क के रुप में विकसित करने की परिकल्पना के साथ कार्य किया जा रहा है। इसके तहत गौठानों में ही कृषि उपज और वनोपज के प्रसंस्करण के साथ ही मुर्गीपालन, पशुपालन, बकरीपालन, मछलीपालन, बत्तखपालन सहित अन्य रोजगारमूलक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने वन-धन केन्द्रों में संचालित गतिविधियों की नियमित समीक्षा के साथ ही इसके बेहतर क्रियान्वयन पर जोर दिया।

ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि संबंधी गतिविधियों में तेजी लाने के लिए सिंचाई सुविधाओं के विस्तार पर जोर दिया। उन्होंने नलकूपों के साथ ही सतही जल से सिंचाई की सुविधाएं विकसित करने के लिए सोलर सिंचाई पंपों की स्थापना के कार्य में भी तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वसहायता समूहों के माध्यम से तैयार की जाने वाली सामग्री का उपयोग दैनिक जीवन में बढ़ाने के संबंध में भी निर्देशित किया। उन्होंने आश्रम-छात्रावासों में दैनिक उपयोग के लिए स्व सहायता समूहों द्वारा तैयार उत्पाद क्रय करने के निर्देश भी दिए।

 कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा के दौरान बकावंड में योजनाओं के क्रियान्वयन में बरती जा रही लापरवाही पर गहरी नाराजगी जाहिर करते हुए परियोजना अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बकावंड में कुपोषण की दर को कम करने के प्रयासों में पर्याप्त तेजी लाने की आवश्यकता है। कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में पहुंचाने का कार्य भी तेजी से किया जाना चाहिए।

कलेक्टर ने इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित कार्यों की भी विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने सभी हाट-बाजारों में मोबाईल मेडिकल यूनिट के माध्यम से ग्रामीणों को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के साथ ही शहरी क्षेत्र में स्वास्थ्य केन्द्रों की स्थापना के लिए स्थान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

आजादी का अमृत महोत्सव तथा राज्योत्सव का उत्साह के साथ होगा आयोजन

आजादी की 75वीं वर्षगांठ के तौर पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव एवं छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना की 21वीं वर्षगांठ का उत्साह के साथ आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर ने छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस की पूर्व संध्या एवं राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर समस्त शासकीय कार्यालयों को रोशनी से जगमग करने के साथ ही रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश भी दिए।