breaking news New

कुरुद के मंगल भवन में आजादी के अमृत महोत्सव का हुआ शुभारंभ

कुरुद के मंगल भवन में आजादी के अमृत महोत्सव का हुआ शुभारंभ


 जिनका जिक्र इतिहास के पन्नो में नही ऐसे स्वंतत्रता सेनानियों को भी जानना जरूरी- अजय चंद्राकर

कुरुद। अगले साल 15 अगस्त, 2022 को भारत की आजादी के 75 साल पूरे होंगे। इस मौके पर देश भर में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। प्रादेशिक लोक संपर्क कार्यालय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार, रायपुर के तत्वावधान में  इसका शुभारंभ बुधवार को नपं. कुरुद के मंगल भवन में भी हुआ। महोत्सव का शुभारंभ मुख्य अतिथि अजय चंद्राकर विधायक कुरुद ने दीप प्रज्वलित कर किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि विधायक  चंद्राकर ने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देने वाले उन तमाम महान स्वंत्रता सेनानियों को याद किया जिन्होंने प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से अपना योगदान दिया। उन्होंने कहा कि यह महोत्सव केंद्र सरकार की ओर से देश के महान सपूतों को याद करने का एक शृंखला है। जो कि स्वाधीनता सेनानियों से प्रेरणा लेकर नए विचारों, नए संकल्पों का एवं आत्मनिर्भरता का अमृत साबित होगा ऐसा मेरा मानना है। उन्होंने गांधी जी के नहर सत्याग्रह का उल्लेख करते हुए आगे कहा कि हमारे छग से भी अनेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का योगदान रहा है जिसका जिक्र इतिहास के पन्नो में नही है। गांधी जी को धमतरी लाने में कुरूद का योगदान भी है जिसे भावी पीढ़ी के बीच परोसने एवं उनसे चर्चा-परिचर्चा करने की आवश्यकता है ताकि सच्चाई लोगो तक पहुंच सके और उनसे नई प्रेरणा मिले।


इससे पहले स्वागत भाषण देते हुए प्रादेशिक लोक संपर्क कार्यालय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार, रायपुर के अपर महानिदेशक अभिषेक दयाल ने बताया कि  आजादी का अमृत महोत्सव एक गहन, देशव्यापी अभियान है जो नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित कर एक जनआंदोलन में परिवर्तन करने पर ध्यान केंद्रित करेगा और ऐसा मानना है की स्थानीय स्तर पर किये गए छोटे-छोटे महत्वपूर्ण परिवर्तन राष्ट्रीय लाभ में हितकर साबित होंगे। उन्होंने बताया कि अमृत महोत्सव का मकसद गर्व के उन पलों को याद करना है, जिनसे भारत की आजादी का इतिहास जुड़ा है।

  इस अवसर पर विशेष अतिथि श्रीमती शारदा देवी साहू अध्यक्ष जनपद पंचायत  कुरुद,   जानसिंह यादव  उपाध्यक्ष जपं. कुरुद,  श्रीमती मंजू साहू उपाध्यक्ष नगर पंचायत कुरुद के अलावा स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, स्कूली छात्र-छात्राएं, कर्मचारीगण एवं नगरवासी उपस्थित थे।

प्रदर्शनी में सेनानियों की गाथा :

 प्रदर्शनी में भारत की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले राष्ट्रपति महात्मा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभ भाई पटेल की जीवन गाथा, देश-विदेश की यात्राओं, आंदोलन को चित्रों के माध्यम से प्रस्तुत किया गया है। इनके अलावा महात्मा गांधी के कंडेल सत्याग्रह को भी दर्शाया गया है। 

प्रतिदिन विविध प्रतियोगिताओं  का आयोजन: 

कार्यक्रम के संयोजक शैलेष फाये ने बताया कि हम सभी को राजनीति से ऊपर उठकर इसका हिस्सा बनना चाहिए और यह अभियान जनता का महोत्सव बनना चाहिए क्युकी यह सरकार का उत्सव नहीं है बल्कि जनभागीदारी से जन आंदोलन का यह कार्यक्रम है। अमृत महोत्सव में प्रतिदिन सुबह 11 से शाम 5 बजे तक विविध प्रतियोगिताओं में युवक-युवतियां, बच्चे भाग लेंगे। साथ ही देशभक्ति सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी।

चित्रकला, रंगोली प्रतियोगिता का हुआ आयोजन:

कार्यक्रम के शुभारंभ के साथ नगर के स्कूली बच्चों द्वारा बैनर व तख्ती लेकर जागरूकता रैली निकाली गई। ततपश्चात आजादी के अमृत महोत्सव विषय को लेकर रंगोली सजाओ एवं चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन के साथ साथ छग के लोक कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई।