breaking news New

पशुधन व नमक खरीद घोटाले के आरोपी को राजस्थान एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

पशुधन व नमक खरीद घोटाले के आरोपी को राजस्थान एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने पशुधन व नमक खरीद घोटाले के मास्टर माईण्ड 50 हजार के इनामी अन्तर्राज्यीय ठग को जयपुर (राजस्थान) एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।

एसटीएफ प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के पशुधन एवं नमक खरीद घोटाले के मास्टर माईण्ड व लखनऊ जेल में निरुद्ध आशीष राय के करीबी सहयोगी अन्तर्राज्यीय ठग सुनील गुर्जर

उर्फ मोंटी गुर्जर को कल देर रात जयपुर एअरपोर्ट, से गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार ठग के पास से साढ़े 18 हजार की नकदी, पासपोर्ट और अन्य सामान बरामद किया गया।

उन्होंने इसके खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में नौ करोड़ 72 लाख रुपये का पशुधन विभाग में टेण्डर के माध्यम से धोखाधड़ी के सम्बन्ध में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदम दर्ज था। इस मामले में एसटीएफ 10 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है तथा इस मुकदमें में मुख्य अभियुक्त आशीष राय का सहयोगी सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी गुर्जर निवासी वैशालीनगर जयपुर (राजस्थान) था तथा यह नमक खरीद घोटाले में हजरतगंज थाने पर दर्ज मामले का मास्टर माईण्ड था। इसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था । फरार ठग की गिरफ्तारी के लिए लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था।

प्रवक्ता ने बताया कि इस अभियुक्त की गिरफ्तार के लिए एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक विशाल विक्रम सिंह, के निर्देशन में मुख्यालय की टीम द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी। इसी क्रम में सूचना मिली कि पशुधन एवं नमक घोटाले का आरोपी 50 हजार रुपये का इनामी सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी जयपुर में रह रहा है

तथा वह अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए दुबई जाने की फिराक में है।

उन्होंने बताया कि इस सूचना पर एसटीएफ के उपनिरीक्षक प्रमोद कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित कर तत्काल जयपुर एयरपोर्ट के लिए रवाना की गयी तथा एअरपोर्ट पहुंच कर वहां एयरपोर्ट सिक्योरिटी व अथोरिटी से सम्पर्क स्थापित कर सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी को गिरफ्तार कर लिया और अन्य सामान बरामद किया। गिरफ्तार आरोपी सुनील गुर्जर ने बताया कि उसने अपने साथी आशीष राय के साथ मिलकर पशुधन विभाग में एवं खाद्य एवं आपूर्ती विभाग लखनऊ में नमक खरीद में ठगी का कार्य किया था। उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी होने के बाद वह गिरफ्तारी के डर से यह लुकछिप कर रह रहा था। अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए जयपुर से दुबई जा रहा था कि उसी समय उसे गिरफ्तार कर लिया।

एसटीएफ प्रवक्ता ने बताया कि पूछताछ पर इस ठग ने बताया कि वह वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व पुदुच्चेरी के दिवंगत उपराज्यपाल गोविंद सिंह गुर्जर का दत्तक पुत्र है। इसके पिता रामनारायण गुर्जर भी नसीराबाद, अजमेर के विधायक रह चुके है। इसके द्वारा‘‘सबल भारत संस्थान’’ नाम का एक एनजीओ भी बनाया था, जिसका कार्यालय वैशालीनगर जयपुर था, अपने एनजीओ के माध्यम से भी ठगी का करता था। इसके खिलाफ 2012 में जयपुर राजस्थान में उसके विरुद्ध धोखाधड़ी का अभियोग पंजीकृत हुआ था। वह र्2017 में अपनी चचेरी बहन के पति सुरेंद्र सिंह से मर्सडीज गाड़ी बेचने खरीदने के नाम पर 21 लाख रुपये की ठगी की थी, जिसके विरुद्ध धोखाधड़ी का अभियोग पंजीकृत किया गया था।

पूछताछ में ठगी से अर्जित रुपयों से मरीना बीच दुबई में आठ करोड़ का फ्लैट खरीदने की भी बात प्रकाश में आई है, जिसकी जानकारी की जा रही है। सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी की अन्य आपराधिक गतिविधियाँ भी पूछताछ के माध्यम से प्रकाश में आयी

गौरतलब है कि राजस्थान के चर्चित भांवरी देवी अपहरण व हत्याकांड में सीडी प्रकरण में भी सुनील उर्फ मोंटी गुर्जर का नाम चर्चा में आया था। वर्ष 2019 में सुनील उर्फ मोंटी गुर्जर ने गुजरात के व्यापारी नीलम भाई पटेल व संदीप भाई पटेल को उत्तर प्रदेश में नमक का टेंडर दिलाने के नाम पर कुख्यात ठग आशीष राय के साथ मिलकर करोड़ो की ठगी की घटना की थी। गिरफ्तार आरोपी को उपरोक्त मुकदामों में दाखिल किये जाने की कार्यवाही की जा रही है। अग्रिम आवश्यक कार्रवाई स्थानीय पुलिस द्वारा की जायेगी।