breaking news New

लॉकअप में बंद करने के दौरान एक अपराधी ने दारोगा केवल हड़काया, बल्कि जेल से छूटने के बाद गोली मारने की धमकी भी दे डाली...

लॉकअप में बंद करने के दौरान एक अपराधी ने दारोगा केवल हड़काया, बल्कि जेल से छूटने के बाद गोली मारने की धमकी भी दे डाली...

पटना, 23 जून। आमतौर पर फिल्मों में ऐसा देखा जाता है कि कोई अपराधी पकड़े जाने के बाद पुलिस अफसर को पहले उसकी हैसियत बताता है और फिर जान से मारने की धमकी देता है. बिहार के आरा शहर में हकीकत में कुछ ऐसा ही हुआ है. लॉकअप में बंद करने के दौरान एक अपराधी ने दारोगा को न केवल हड़काया, बल्कि जेल से छूटने के बाद जान से मारने की धमकी भी दे डाली. मामला नगर थाना क्षेत्र के मोती टोला का है, जहां एक बदमाश को चीता टीम ने हथियार के साथ गिरफ्तार किया. इसके बाद उस बदमाश को नगर थाना लाया गया, जहां उसने जमकर उत्पात मचाया और उसके बाद नगर थाना के एसआई मनोज कुमार को जान से मारने की धमकी तक दे डाली.पूरी खबर हिंदी फिल्म की स्क्रिप्ट जैसी है दरअसल, भोजपुर जिले में अपराध पर नियंत्रण रखने के लिए एसपी राकेश कुमार दुबे ने चीता टीम का गठन किया है जो शहर के हरेक चौक-चौराहे पर गश्ती करते हुए अपराध पर कंट्रोल करेगी. टीम द्वारा शहर में गश्ती की जा रही थी, तभी पुलिस ने नगर थाना के अम्बेडकर नगर में एक बदमाश को सरेआम हथियार लहराते हुए हंगामा करते देखा. उसे फौरन ही गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार बदमाश मोती टोला का निवासी देवेंद्र यादव उर्फ बुड़बकवा है, जिसको चीता टीम ने गिरफ्तार किया. गिरफ्तार कर बदमाश देवेंद्र को नगर थाना लाया गया तो उसने थाना में उत्पात मचाना शुरू कर दिया.  लिए ये अहम फैसले गिरफ्तार बदमाश ने थाना के हाजत में लगे सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया और जमकर उत्पात मचाया. इसके बाद 6-7 पुलिसकर्मियों की मदद से बदमाश को पकड़ा गया. इसी दौरान ही उसने सब इंस्पेक्टर मनोज कुमार को जेल से निकलते ही गोली मारने (ठोक देने) की धकमी दे डाली. उसने कहा कि जेल से जब भी निकलूंगा सबसे पहले तुमको गोली मारूंगा. पुलिस ने बताया कि युवक के पास से पिस्टल 7.65 बोर की और दो जिंदा कारतूस बरामद किया गया है. उस पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया हैं. पकड़े गए बदमाश के बारे जानकारी जुटाने में पुलिस लग गई है।