breaking news New

डेढ़ दशक बाद खोला गया नक्सल प्रभावित क्षेत्र जगरगुंडा का रोड,एसपी ने लिया जायजा

डेढ़ दशक बाद खोला गया  नक्सल प्रभावित क्षेत्र जगरगुंडा का रोड,एसपी ने लिया जायजा

दंतेवाड़ा !  नक्सल प्रभावित क्षेत्र जगरगुंडा का रोड़ डेढ़ दशक बाद खोला जा सका डेढ़ दशकों से दोनों जिले सुकमा दंतेवाड़ा के जवान इस रोड में कार्यरत है और जोरो से काम चल रहा था सोमवार को यहां रोड खोलने से डॉक्टर एसपी अभिषेक पल्लव अपनी टीम के साथ चार पहिया वाहन में जगरगुंडा पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया 

इस रोड को खोलने में पुलिस प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी नवीन कैंप कमारगुड़ा खुल जाने से फोर्स द्वारा सुरक्षित रोड निर्माण कराने व मजदूरों की सुरक्षा के लिए पुलिस बल लगाए गए हैं जिसके कारण यह संभव हो पाया है

कमारगुडा जगरगुंडा सिर्फ 4 किलोमीटर पहले स्थित है इस कैंप के खुलने के बाद जुडवा नाला से कमारगुडा तक और कमारगुडा से और आगे जगरगुंडा तक नक्सलियों द्वारा सड़क को अवरुद्ध करने के लिए जगह-जगह आईडी बंम व रास्ते खोदे गए थे 

जिसे बाहर करने के लिए पुलिस प्रशासन सीआरपीएफ डीआरजी के जवान महिला कमांडो ने पुलिस कप्तान एसपी अभिषेक पल्लव निर्देश अनुसार काम किया और रोड में आईडी को सुरक्षित निकाला और रोड के गड्ढों को भरा गया जिससे आज जाकर यह मार्ग खुला है 

एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि रोड के चौड़ीकरण व डामरीकरण बहुत जल्दी चालू हो जाएगा जिस का जायजा लेने पुलिस कप्तान एसपी अभिषेक पल्लव पहुंचे नकल गढ़ होने के पहले कभी जगरगुंडा हुआ करता था व्यापारिक केंद्र रहा है सुकमा जिले में स्थित जगरगुंडा नक्सलियों की पैठ मजबूत होने के पहले प्रमुख व्यापार केंद्र हुआ करता था जिसमें  इमली मिर्च वन उपज खरीदी बिक्री बड़ी मात्रा में होने के कारण यहां व्यापारिक केंद्र बन गया था

परंतु नक्सलियों द्वारा अरनपुर से जगरगुंडा तक अपना साम्राज्य स्थापित किया और कच्ची सड़क पर जगह-जगह गड्ढे खोदे और आईडी बम लगा दिए और नक्सलियों के कब्जे में होने के कारण आवाजाही बंद हो गई और रास्ता बंद हो गया