breaking news New

छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने राज्य शासन द्वारा प्रदेश में स्कूलों के खोलें जाने के निर्णय का स्वागत करतें हुए मुख्यमंत्री ,शिक्षा मंत्री को बधाई प्रेषित किया

छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने राज्य शासन द्वारा प्रदेश में स्कूलों के खोलें जाने के निर्णय का स्वागत करतें हुए मुख्यमंत्री ,शिक्षा मंत्री को बधाई प्रेषित किया

स्कूल खोले जाने का स्वागत

भानूप्रतापपुर। छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ ने राज्य शासन द्वारा प्रदेश में स्कूलों के खोलें जाने के निर्णय का स्वागत करतें हुए मुख्यमंत्री ,शिक्षा मंत्री को बधाई प्रेषित किया है। छत्तीसगढ शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष टिकेश ठाकुर ने बताया कि संगठन का शुरू से मानना रहा हैं कि अध्ययन ,अध्यापन के लिए मुफीद स्थान मोहल्ला क्लास के बनिस्पत स्कूल के कमरे ही अधिक उपयुक्त है। मोहल्ला क्लासो में बैठने के स्थान की कमी कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन संभव नहीं था , खुले स्थान में शाला लगाए जाने से सांप ,बिच्छू और जहरीले कीड़े मकोड़े के काटने का डर , रंगमंच या अन्य किसी स्थान में प्रसाधन की सुविधा नहीं होने से शौचालय ,मूत्रालय के लिए परेशानी विशेषकर बालिकाओं और महिला शिक्षको को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा था। इन्ही सब व्यवस्थागत परेशानियों के मद्दे नजर शिक्षक संघ ने 19 जुलाई को जिले के सातों विकासखंडों में एक साथ खंड शिक्षा अधिकारियों को ज्ञापन सौंप कर विसंगतियों को दूर करने का आग्रह किया था। प्रांतीय शाखा ने भी मुख्यमंत्री ,शिक्षा मंत्री से स्कूल खोले जाने की मांग लगातार करती रही है। अब जब शासन ने 2अगस्त के स्कूलों को कुछ सावधानियों के साथ प्रारंभ किए जाने की घोषणा की है शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष ने समस्त प्राचार्यों ,प्रधान अध्यापकों ,शिक्षको से आग्रह किया है कि कोरोना का खतरा कतई टला नहीं है ,अतएव राज्य शासन और जिला प्रशासन के मंशानुरूप हाथ धुलाई , सामाजिक दूरी ,सेनेटाइजिंग, मास्क का अनिवार्य उपयोग जैसी परहेजी साधनों का उपयोग स्वयं करे और बच्चो से कराएं। तीसरे लहर की तीव्र आशंका बनी हुई है इसलिए सावधानी ही बचाव का सबसे बेहतर तरीका है ,अपने अपने शाला समितियों से तत्संबंधी प्रस्ताव पास कराकर ज्ञान दान के पुनीत कार्य में जुट जाएं।