breaking news New

डाॅ शिवकुमार डहरिया की पहल से गढ़ी जा रही है आरंग के विकास की नई तस्वीर

डाॅ शिवकुमार डहरिया की पहल से गढ़ी जा रही है आरंग के विकास की नई तस्वीर

300 करोड़ से अधिक की राशि से मिल रही है विकास कार्यों को प्रगति

रायपुर/आरंग, 18 दिसम्बर। प्रदेश की राजधानी से कुछ दूर आरंग विधानसभा की तस्वीर पहले से बहुत बदल गई है। विकास को तरसते आरंगवासियों को विगत दो साल में क्षेत्रीय विधायक और केबिनेट मंत्री डाॅ शिवकुमार डहरिया के रुप में एक ऐसा विकास पुरुष मिला है जो न सिर्फ इस क्षेत्र का लगातार भ्रमण करते हैं, आम जनमानस से मिलते हैं और उनकी समस्याओं को सुनने और निराकरण करने की हरसंभव कोशिश करते हैं। आरंग क्षेत्र में विगत दो साल के कार्यकाल में विधायक डाॅ डहरिया ने विकास कार्यों की वह सौगातें दी हैं कि यहां का नक्शा ही बदल गया है। लोगों की बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करने के साथ ही भविष्य की जरूरतों को ध्यान रखकर उन्होंने आरंग के विकास के लिए ऐसा माॅडल तैयार किया है कि आने वाले दिनों में आरंग विधानसभा में विकास की नई तस्वीर स्पष्ट दिखाई देगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में अपनी कार्यशैली और विशिष्ट छत्तीसगढ़ी अंदाज और साफ-सुथरी छवि, मिलनसार प्रवृत्ति से एक अलग पहचान बनाने वाले डाॅ शिवकुमार डहरिया ने अपने महज दो साल के कार्यकाल में ही आरंग विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 300 करोड़ रुपए से अधिक के कार्यों की स्वीकृति दी और अनेक बड़े कार्यों के लिए उच्च स्तर पर प्रयास किया। 


गौरवपथ से बढ़ेगा गौरव और आरंग की सुंदरता

 मंत्री डाॅ डहरिया के नेतृत्व में आरंग विधानसभा में अनेक बड़े कार्य कराए गए हैं। क्षेत्र का विधायक चुने जाने के बाद मंत्री डाॅ डहरिया ने आरंग को अंधेरे से मुक्ति दिलाने का बीड़ा उठाया। यहां लो-वोल्टेज और बिजली कटौती एक बड़ी समस्या थी। अंधेरे से जूझते परिवारों और यहां के विकास में एक बड़ी बाधा को दूर करने की पहल करते हुए लगभग 32 करोड़ की लागत से गुल्लू में उच्च क्षमता का विद्युत सब स्टेशन की स्थापना कराई और आरंगवासियों की एक बड़ी समस्या का अंत किया। राष्ट्रीय राजमार्ग से लगे आरंग में सड़कों की स्थिति ठीक नहीं थी। मुख्य मार्ग बहुत संकरा होने के साथ अनेक सड़के जर्जर थी और आवागमन की दृष्टि से बेहतर नहीं थी तो मंत्री डाॅ डहरिया ने यहां की सुंदरता और पहचान को बढ़ाने वाला गौरवपथ निर्माण की परिकल्पना की। उन्हीं की सोच का ही परिणाम है कि आरंग में 17 करोड़ 59 लाख की लागत से गौरवपथ का निर्माण किया जा रहा है। जल्द ही गौरव पथ पूर्ण होकर यहा की सुंदरता में चार-चांद लगाएगा। इसी तरह सभी समाज के लिए सामुदायिक भवन की स्वीकृति प्रदान करने के साथ उन्हें विकास की राह पर आगे बढ़ाने का कार्य डाॅ डहरिया ने किया है। सामुदायिक भवन निर्माण के संदर्भ में डाॅ डहरिया का मानना है कि जागरुक और संगठित समाज ही एकजुट होकर अपने समाज की उन्नति के बारे में सोच सकता है और समाज का विकास ही प्रदेश और देश का विकास है। इसलिए उनके द्वारा सर्व सामान्य हेतु 1 करोड़ 80 लाख का मंगल भवन, सभी समाजों के लिए 17 भवन हेतु 5 करोड़ की स्वीकृति दी। आरंग में 17 करोड़ 93 लाख की लागत से रेन वाटर हार्वेस्टिंग पार्क की स्थापना, पेयजल उपलब्धता हेतु पाइप लाइन विस्तार के लिए 7 करोड़ 32 लाख की स्वीकृति, सबके आवास के लिए 13 करोड़ 64 लाख की स्वीकृति, बुनियादी शाला के लिए 2 करोड़ 31 लाख की स्वीकृति, सभी पुराने सड़कों का जीर्णोद्धार के लिए 3 करोड़ 50 लाख की स्वीकृति, पौराणिक मंदिरों के सौंदर्यीकरण कार्य के लिए 38 लाख 52 हजार की स्वीकृति, 11 सार्वजनिक शौचालय के लिए 1 करोड़ 32 लाख, कब्रिस्तान के लिए 40 लाख, अधोसंरचना विकास अंतर्गत विभिन्न कार्यों के लिए 12 करोड़ की स्वीकृति दी गई है। 

सड़कों के जीर्णोद्धार से बेहतर होगा आवागमन

आरंग को राजधानी के अलावा आसपास के इलाकों से जोड़ने सड़कों का विस्तार भी किया जा रहा है ताकि आवागमन और भी सुगम बनाया जा सके। इस दिशा में चंदखुरी से खौली मार्ग का चैड़ीकरण एवं मजबूतीकरण के लिए 23 करोड़ 67 लाख, आरंग से खमतराई मार्ग के लिए 9 करोड़ 28 लाख, रायपुर के समोदा, कुसमुंदा, तुलसी मार्ग के पातलू नाला के निर्माण के लिए 6 करोड़, घोंट से गुखेरा मार्ग के लिए 2 करोड़ 72 लाख, अमसेना से मोहगांव के लिए 2 करोड़ 66 लाख, बाना से परसदा मार्ग के लिए 2 करोड़ 82 लाख, करमंदी से केशला अमोदी मार्ग हेतु 17 करोड़ 32 लाख, गोईदा से अकोली मार्ग के लिए 2 करोड़ 88 लाख, कुम्हारी से जारा-आलेसुर मार्ग के लिए 2 करोड़ 81 लाख की स्वीकृति प्रदान कर विकास कार्यों के लिए रास्ता खोला गया है। मंत्री की पहल से मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में भी अनेक मार्गाें की स्वीकृति हुई है। जिसमें धौराभाठा से रसौटा, केसला, 2 करोड़ 19 लाख, कुरुद बस स्टैड से महानदी तक सड़क हेतु 98 लाख, नारा से सिवनी तक सड़क हेतु 4 करोड़ 75 लाख, कुठेरी से चरौद हेतु 88 लाख, गोढ़ी पानी टंकी से भानसोज सड़क  हेतु 46 लाख, राटाकाट से आरंग 1 करोड़ 23 लाख, अछोली से भैसमुंडी 73 लाख, घोरबट्ठी से परसवानी 39 लाख, तुलसी से परसदा 1 करोड़ 82 लाख, गोठान से चंड़ी खार 1 करोड़, गुल्लु से गुखेरा 5 करोड़ 39 लाख भंडारपुरी से सेजा 4 करोड़ 25 लाख, भिलाई कुसुमखुटा से गनौद 7 करोड़ 79 लाख, मोखला से बिरबिरा 3 करोड़ 66 लाख, भैंसा से देवरतिल्दा से परसवानी 8 करोड़ 31 लाख की स्वीकृति प्रदान की गई है। इनमे से अनेक सड़कों का कार्य प्रगति पर है। 

किसानों को मिलेगी सिंचाई सुविधा

आरंग विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई की समस्या को दूर करने डाॅ डहरिया द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हंै। उनकी पहल से कुरुद जलाशय का जीर्णोद्धार  एवं नहर लाइनिंग कार्य हेतु 5 करोड़ 69 लाख, कोसरंगी जलाशय का जीर्णोध्दार एवं नहर लाइनिंग कार्य 4 करोड़ 53 लाख, महानदी से अमेठी तटबंद निर्माण हेतु 8 करोड़ 93 लाख, कोल्हान नाले से सकरी स्टाप डेम निर्माण हेतु 2 करोड़ 97 लाख, दोंदे व्यपवर्तन योजना का हैंडवर्क एवं नहर लाइनिंग कार्य हेतु 1 करोड़ 49 लाख सिवनी टारबांध का हैंडवर्क एवं नहर लाइनिंग कार्य 1 करोड़ 55 लाख, गुमा जलाशय का जीर्णोंध्दार  एवं नहर लाइनिंग कार्य हेतु 3.97 लाख, नरदहा जलाशय का जीर्णोंध्दार  एवं नहर लाइनिंग कार्य हेतु 1 करोड़ 47 लाख, नवागांव जलाशय का जीर्णोंध्दार  एवं नहर लाइनिंग कार्य हेतु 3 करोड़ 99 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

शेडयुक्त धान चबूतरों से नहीं भीगेगा धान

मंत्री डाॅ डहरिया के नेतृत्व में नए धान उपार्जन केंद्र की स्वीकृति दिलाकर किसानों को होने वाली परेशानी को भी दूर करने की पहल की। धान खरीदी केंद्रों में शेडयुक्त चबूतरे की स्वीकृति देकर बारिश के दिनों में धान को भीगने से बचाने का सराहनीय प्रयास किया है। मंत्री डाॅ डहरिया के प्रयासों से अन्य पिछड़ा वर्ग विकास प्राधिकरण से लगभग 95 लाख रुपए और अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण योजना से 94 लाख 72 हजार रुपए के कार्यों की स्वीकृति मिली है। मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम योजनान्तर्गत 5 करोड़ 23 लाख, मुख्यमंत्री समग्र मद से 2 करोड़ 43 लाख, विधायक निधि (प्रभारी मंत्री) से 2 करोड़ 48 लाख, मनरेगा के तहत 10 करोड़ 56 लाख, गौण खनिज राजस्व अंतर्गत 6 करोड़ 18 लाख, मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना से 5 करोड़ 87 लाख 43 हजार रुपए के कार्यों, डीएमएफ से लगभग 63 लाख, लोक निर्माण विभाग अंतर्गत 2 करोड़ 17 लाख, राज्य आयोजना मद से 84 लाख, नाबार्ड पोषित योजना से 37 लाख रुपए सहित अन्य योजनाओं से भी आरंग क्षेत्र में अनेक कार्यों के लिए डाॅ शिवकुमार डहरिया की पहल से विकास कार्यों की स्वीकृति प्रदान की गई है। 

इन कार्यों में विद्यार्थियों के बेहतर शिक्षा के लिए शासकीय स्कूल भवन, बच्चों के लिए आंगनबाड़ी, बेहतर स्वास्थ्य के लिए औषधालय, राशन दुकान, खेल मैदान, आवागमन के लिए सड़क, सीसी रोड़, रंगमंच, अहाता निर्माण, सभी समाज के लिए सामुदायिक भवन, अतिरिक्त कक्ष निर्माण, पहुंच मार्ग, तालाब गहरीकरण, पुलिया निर्माण, गौशाला, महिला भवन, पत्रकार भवन, पचरी, छठघाट निर्माण, यात्री प्रतीक्षालय, स्मार्ट स्कूल, मुक्तिधाम में विभिन्न कार्य, नलजल योजना, जलप्रदाय योजना आदि कार्य शामिल है। इन कार्यों से आरंग विधानसभा की नई तस्वीर कुछ दिनों में दिखाई देगी। डाॅ डहरिया आरंगवासियों के दिल में भी बसे हुए हैं। वे कहते हैं कि आरंग मेरा घर है और यहां के लोग मेरे परिवार के सदस्य है। मैं सभी के लिए उनके सुख-दुख में हर वक्त उपलब्ध हूं।