breaking news New

अंधे कत्ल की गुत्थी एक सप्ताह के अंदर सुलझाया, प्रेमी ने अपने साथी के साथ मिलकर घटना को दिया अंजाम

अंधे कत्ल की गुत्थी एक सप्ताह के अंदर सुलझाया, प्रेमी ने अपने साथी के साथ मिलकर घटना को दिया अंजाम

सक्ती, 22 जून। अंधे कत्ल की गुत्थी एक सप्ताह के अंदर सुलझाया, प्रेमी ने अपने साथी के साथ मिलकर घटना को दिया अंजाम। 15 जून 2021 के सुबह 06 बजे सूचना मिली की ग्राम डोड़की के भांठापारा कोतरी नाला में एक अज्ञात महिला उम्र लगभग 25 वर्श का  शव पड़ा हुआ है जिसकी सूचना पाकर मौके पर मर्ग क्रमांक 35/2021 धारा 174 जा.फौ. कायम किया गया। मर्ग विवेचना दौरान मृत्यु का कारण डाॅक्टर द्वारा शव के पी.एम. पष्चात् पी.एम. रिपोर्ट में कारण गला दबाने से होना लेख करने पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अपराध क्रमांक 161/302, 201, 34 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।  घटना के बारे में पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया। 

पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर (भापुसे) जिला जांजगीर चांपा तथा अति. पुलिस अधीक्षक महोदय संजय महादेवा एवं अनु. अधि. महोदय सक्ती शोभराज अग्रवाल, निरीक्षक रूपक शर्मा थाना प्रभारी सक्ती के मार्गदर्शन में उप निरी. नवीन पटेल के द्वारा हमराह स्टाॅफ आर. प्रेम नारायण राठौर, आर. महेन्द्र राठौर के टीम बनाकर प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए साइबर सेल की मदद लेकर संदेही आरोपी ओम प्रसाद साहू पिता गुरवारू साहू साकिन असौंदा को बतौली से हिरासत में लेकर थाना सक्ती लाया गया। संदेही आरोपी से कड़ाई से पूछताछ करने पर बताया कि ग्राम नन्दौर खुर्द के संतोषी महंत जो एक साथ हाई स्कूल नन्दौर कलां में पढ़ाई किये थे उससे पिछले एक वर्ष से फोन से बातचीत होना तथा इस बीच दोनों के आपसी सहमति से कई बार शारीरिक संबंध भी स्थापित होना बताया । दिनांक 10.06.2021 दिन गुरुवार को संतोषी महंत द्वारा आरोपी ओमप्रसाद को सुबह करीब 09.30 बजे फोन कर बताई कि तुम्हारे घर आ रही हूँ । तब उसे आरोपी द्वारा बोला कि तुम्हारे लिए रहने की व्यवस्था कर रहा हूँ । आरोपी द्वारा संतोषी महंत को अपने परिचित के घर झूलकदम सक्ती में घर ठहराया । दूसरे दिन संतोषी महंत मोटर सायकल से लिफ्ट लेकर रात्रि समय करीबन 07  बजे आरोपी के घर से कुछ दूरी पर स्थित पीपल पेड़ के पास उतरी । तब आरोपी अपने साथी परमेश्वर सिदार के साथ संतोषी महंत को उसके घर जाने के लिए समझाया लेकिन वह नहीं मान कर इसके साथ में रहना व शादी करने के लिए जिद करने लगी तब हम दोनों के बीच में विवाद हो गया । हमारे विवाद को कोई लोग न सुने सोचकर हम दोनों संतोषी महंत को समझाते हुए कोतरी नाला पास लेकर गये । किंतु वह अपने जिद पर अड़ी रही तथा अपने घर जाने के लिए इंकार कर आरोपी ओम प्रसाद साहू से शादी करने के लिए जिद करने लगी तब आरोपी अपने साथी परमेश्वर सिदार के साथ मिलकर संतोषी मंहत के गला को कोहनी से दबाकर हत्या कर दिया गया और शव को कोतरी नाला में फेंक दिया एवं पुलिस से पकड़े जाने की डर से मृतिका के 02 नग मोबाईल को भी नाला के पानी में फेंक दिया । आरोपी ओम प्रसाद साहू दिनांक 11 . सबेरे 04 बजे पुलिस से बचने के लिए बतौली सरगुजा भाग कर चला गया । साइबर सेल की मदद से उक्त आरोपियों को गिरफ्तारी करने में सफलता मिली। 

उक्त कार्यवाही में निरी . रूपक शर्मा , उप निरी . नवीन पटेल , सउनि अभय सत्यार्थी , प्र.आर. अजय प्रताप कुर्रे , आर . प्रेम नारायण राठौर , आर . महेन्द्र राठौर , म.आर. दिव्याशा गोंड , आर . अश्वनी सिदार , आर . जोगेश राठौर , आर . सेवन देवांगन , आर . खगेश साहू , आर . पुसनाथ भगत , आर . लक्ष्मीनारायण राठौर , आर . राजेश साहू एंव थाना स्टॉफ का सराहनीय योगदान रहा ।