breaking news New

दिल्ली में धरने पर बैठे किसानों के समर्थन में किसानों कांग्रेसियों द्वारा नेशनल हाईवे पर चक्का जाम

दिल्ली में धरने पर बैठे किसानों के समर्थन में किसानों कांग्रेसियों द्वारा नेशनल हाईवे पर चक्का जाम

के एस ठाकुर 

राजनांदगांव, 7 फरवरी। किसान महासंघ के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर 3 नए कृषि  बिल के विरोध में दिल्ली में धरने पर बैठे किसानों के समर्थन में राष्ट्रव्यापी चक्का जाम के तहत राजनांदगांव से गुजरने वाली है नेशनल हाईवे में पारी नाला के पास किसानों ने धरना देकर चक्का जाम किया। किसानों के इस धरने को  समर्थन देते हुए कांग्रेस के पदाधिकारी महापौर हेमा देशमुख एवं अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हाफिज खान भी अपने साथियों के साथ धरने पर राष्ट्रीय राजमार्ग के बीच सड़क पर ही बैठे रहे। चक्का जाम में किसानों एवं कांग्रेसियों ने  करीबन 3 घंटे तक पूरी तरह  सड़क को रोके रखा है। इस बीच यात्री वाहन ट्रक  आदि वाहनों को आने जाने नहीं दिया जिसकी वजह से राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की काफी लंबी कतार लग गई एवं आवाजाही पूरी तरह बाधित रहा। इस चक्का जाम में  यात्री बस में सवार यात्रियों विशेषकर छोटे बच्चों को  तीन तीन घंटे  बस में भूखे प्यासे बैठे रहना पड़ा बैठे रहना पड़ा । 

धरना के दौरान प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की एवं तीन नए कृषि  कानून  काला कानून बताते हुए इसे वापस लेने की मांग की। इस अवसर पर जिला के  किसान महासंघ राजनांदगांव के अध्यक्ष सुदेश टीकम तथा राजनांदगांव नगर निगम के महापौर हेमा देशमुख ने सभा को संबोधित किया 3 नए कृषि कानून से किसान पूरी तरह बर्बाद हो जाएंगे। यह कानून किसानों के लिए हित में नहीं है जब तक यह कानून वापस नहीं होगा किसानों का आंदोलन चलता रहेगा इसके पश्चात हम राजधानी कुछ करेंगे और फिर दिल्ली तक जाएंगे।