breaking news New

विफलता और मायूसी से भरा मोदी सरकार के 7 साल का कार्यकाल - डॉ रश्मि चंद्राकर

विफलता और मायूसी से भरा मोदी सरकार के 7 साल का कार्यकाल - डॉ रश्मि चंद्राकर


70 साल की गाढ़ी कमाई मोदी सरकार ने 7 साल में लुटाई 

महासमुंद, 31 मई। मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर जिला महासमुंद कांग्रेस कमेटी की जिला अध्यक्ष डॉ रश्मि चंद्राकर ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर मोदी सरकार के 7 सालों के कार्यकाल को जुमलेबाजी और जनता को ठगने वाली सरकार बताया। डॉ चंद्राकर ने भारतीय जनता पार्टी व मोदी सरकार से पूछा है कि इन 7 सालों में देश की जीडीपी, महंगाई, किसानों की हालत,जी एस टी, बेरोजगारी, उद्योगों का चौपट होना गरीबी में वृद्धि, विदेश नीति में नाकामी के साथ ही जुमले बाजो की यह सरकार अपने किसी भी महत्वपूर्ण घोषणा में सफल नहीं हो पाई है चाहे वह नोटबंदी से काला धन वापस लाने का मामला हो या प्रत्येक व्यक्ति के खाते में पन्द्रह लाख रुपए डालने का या फिर किसानों की आय दोगुनी करने वाली बात प्रत्येक वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार की बात हो तमाम अपने वादों में मोदी सरकार फिसड्डी साबित हुई है।

डॉ चंद्राकर ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों का असर यह रहा कि  विदेशों में भी अब भारत की बदनामी हो रही है. कोविड-19 वैश्विक महामारी के संबंध में भाजपा की मोदी सरकार की नीति देश को बीमार करने वाली रही है जहां जिस समय हमें वैक्सिंन की जरूरत थी उस समय कोरोना के दुसरी लहर से पूर्व बाहरी देशों को वैक्सीन पहुंचाकर मोदी ने अपनी पीठ थपथपाई थी उसका नतीजा यह निकला कि देश के अंदर वैक्सिंन की कमी से कोरोना ने अपना पैर पसार दिया ऑक्सीजन, बेड, वेंटिलेटर, और दवाई जैसे स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में लाखों लोगों ने अपनी जान गंवा दी जिसका जिम्मेदार मोदी सरकार है इसे भी इस 7 साल की उपलब्धि के रूप में भाजपा को शामिल करना चाहिए। भारत के इतिहास में यह दर्ज होगा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार लगातार गलती पर गलती करती रही और लाखों लोग काल के गाल में समा गए यह भी दर्ज होगा  कि लकड़ी नहीं मिल पाने से किस तरह से लोगों ने अपने मृतकों को गंगा में बहा दिया इतिहास में यह भी दर्ज होगा कि किसानों के तीन काले कानून को वापस लेने के लिए किस तरह से सैकड़ों किसानों ने अपनी जान दे दी फिर भी यह सरकार कारपोरेट की मदद से बाज नहीं आ रही है।  

इतिहास में यह भी दर्ज होगा कि किस तरह एक शासक ने बंगाल चुनाव जीतने के लिए कोरोना बचाव के सारे नियमों को ताक में रखकर राजनीति की और बाद में टेलीविजन पर आकर मृतकों के लिए आंसू बहा दिया।डॉ रश्मि चंद्राकर ने कहा कि अब देश समझ चुका है मोदी जी सिर्फ लच्छेदार भाषणों के नाटकीयता से लोगों को आकर्षित कर उनका वोट लेते हैं लेकिन धीरे-धीरे लोगों को समझ आने लगा है कि भाजपा की सरकार उद्योगपतियों के इशारे पर सिर्फ देश को लूटने का काम कर रही है  भाजपा की केन्द्र मोदी सरकार का यह 7 साल विफलता नाकामी देश को गर्त मे ले जाने वाला रहा।

इस महामारी के दौर में मोदी सरकार झूठे भाषण के सहारे सरकार चला रही है। एक तरफ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने कोरोना महामारी को देखते हुए प्रदेश के सभी शासकीय भवनों के निर्माण पर रोक लगा दी दूसरी तरफ मोदी जी आलीशान सेंट्रल विस्ता महल बनाने के लिए हजारों करोड़ों रुपया फूंक रहे हैं आज जनता को आर्थिक सहयोग की जरूरत है कांग्रेस पार्टी लगातार मोदी सरकार से मांग कर रही है कि न्याय योजना के तहत गरीब तबके के लोगों को प्रतिमाह ₹6000 की आर्थिक मदद की जाए एवं लगातार लॉकडाउन के कारण जनता के पास पैसे की कमी को देखते हुए मुफ्त में वैक्सीनेशन किया जाए। मगर मोदी सरकार इन सबसे परे डाटा छुपाने की राजनीति कर रही है एक तरफ केंद्र की मोदी सरकार कहती है कि 20 करोड़ लोगों का टीकाकरण हो गया है दूसरी तरफ भाजपा की छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी पुरंदेश्वरी जी कहती हैं कि मई तक देश में सिर्फ आठ करोड़ वैक्सीन का उत्पादन हुआ भाजपा के नेता बौखलाए हुए हैं क्योंकि उनकी नाकामी आदेश के सामने आ चुकी है आए दिन अफवाह फैलाना और सोशल मीडिया में आकर झूठ बोलना उनका काम बन चुका है हाल ही में झूठे टूल किट के मामले में कांग्रेस को घेरने की कोशिश करने वाली भारतीय जनता पार्टी की ट्विटर ने पोल खोल दिया। ऐसे में डाटा छुपाना और आत्मनिर्भरता के नाम पर जनता के साथ छल करना मोदी सरकार की पेशा बन चुका है। अंत में डॉ रश्मि चंद्राकर ने कहा कि मोदी सरकार के 7 साल के जुमलों से भरी सरकार से जनता नाखुश है अगर आज के डेट में चुनाव किया जाए तो मोदी सरकार पूरी तरीके से हार रही है। केंद्र में बैठी निकम्मी मोदी सरकार की सैकड़ों विफलताएं हैं मगर मैं एक शब्द में कहूं तो "7 साल देश बदहाल" हो चुका है।