breaking news New

सुकमा में कोरोना की दस्तक से हड़कंप , सर्तकता बरतने नोडल अधिकारी ने ली बैठक

सुकमा में कोरोना की  दस्तक से हड़कंप , सर्तकता बरतने नोडल अधिकारी ने ली बैठक


सुजीत वैदिक सुकमा

सुकमा ! ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए जिला नोडल डिप्टी कलेक्टर श्रीकांत कोराम नेे नगर पालिका क्षेत्र अंतर्गत समस्त सेक्टर अधिकारी, वार्ड प्रभारी, चौक चौराहों में संलग्न किए कर्मचारियों की बैठक रविवार को कोविड वार रूम, पुराना कलेक्ट्रेट परिसर में ली गई। जिसमें सभी अधिकारियों कर्मचारियों को नागरिकों को कोविड अनुरूप व्यवहार अपनाने व मास्क अनिवार्य रुप से पहनने, पॉजिटिव आने वाले केस का कांटेक्ट ट्रसिंग करना व प्राइमरी कांटेक्ट का होम क्वारंटीन करने के साथ ही समारोह में 200 व्यक्ति से ज्यादा शामिल ना हों, इन सभी को लागू करवाने के लिए विशेष निर्देश दिये गए।

बैठक में कॉविड जिला नोडल अधिकारी श्रीकांत कोराम, कोविड-वार रूम प्रभारी आशीष राम, प्रदीप नायर कांटेक्ट ट्रेसिंग प्रभारी सौरव उप्पल, ब्लॉक कांटेक्ट ट्रेसिंग नोडल अधिकारी प्रफुल्ल डेनियल, नगर पालिका सुकमा के नोडल अधिकारी विकास राठौर, सेक्टर प्रभारी वार्ड प्रभारी एवं अन्य कर्मचारीगण उपस्थित थे

सुकमा जिले मे चार पौजेटिव केस पाए गये

जिले में अभी तक की स्थिति में 4 नए कोरोना मरीज पाए गये जो जिला मुख्यालय में 2 व दोरनापाल में 2 बताय जा रहे है राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों का आंकड़ा, जिससे जिले में भी बिगड़ सकते हैं हालात  सरकारी अमला सतर्कता बरतने की हिदायतो के साथ मास्क आदि सुरक्षा संबंधित ध्यान रखने आगाह कर रहा है 

कुपोषण में कमीः पूरे राज्य में सुकमा ने प्राप्त किया दूसरा स्थान

सुकमा जिले के लिए यह बड़े गर्व की बात है कि कलेक्टर  विनीत नन्दनवार के मार्गदर्शन में महिला बाल विकास विभाग के पर्यवेक्षक और मैदानी अमले की लगातार मेहनत से कुपोषण की दर को 14.2 प्रतिशत कम करने में सफलता हासिल किया है। 

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे एनएफएचएस-4, 2016 के 2021 में जारी आंकड़ों के अनुसार सुकमा जिले की कुपोषण दर 37.4 प्रतिशत है। इस प्रकार जिले में कुपोषण में 14.2 प्रतिशत की कमी आई है। गरियाबंद के बाद सुकमा दुसरे नम्बर पर है