breaking news New

देवी-देवताओं की विदाई के साथ कोरोना से प्रभावित फागुन मेला समंन्न हुआ

 देवी-देवताओं की विदाई के साथ कोरोना से प्रभावित फागुन मेला समंन्न हुआ

दंतेवाड़ा। रियासत कालीन फागुन मेले में 06 देवी देवताओं की गुरुवार को विदाई के साथ ही 13 दिवसीय इस आयोजन का समापन हो गया। जिन देवी देवताओं को विदा किया गया, उनमें तपेश्वरी माता समलूर, झारा नन्दपुरीन माता कुतुलनार, गंगनादई माता बालपेट, हिंगलाजिन माता जैतगिरी बस्तर, मावली माता आंवराभाटा, धंवड़ावीर देव जैतगिरी बस्तर शामिल हैं।

इसके पूर्व 27 मार्च को जिला प्रशासन व टेंपल कमेटी ने कोरोना संक्रमण के विस्तार के खतरे के मद्देनजर आमंत्रित सभी देवी देवताओं को ससम्मान विदा करवा दिया था। इनमें से देवी-देवताओं को लेकर आये 611 दल अपने-अपने गांव लौट गए। सिर्फ 06 देवी देवताओं के प्रतीक व उनके दल को फागुन मेले की बाकी रस्मों की अदायगी तक के लिए रोक लिया गया था।

20 मार्च से शुरू हुए 13 दिवसीय कार्यक्रम के बीच में ही देवी देवताओं की विदाई के चलते इस बार का आयोजन काफी चर्चित रहा।