breaking news New

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर साधा जमकर निशाना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर साधा जमकर निशाना

मथुरा । उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सब जानते हैं कि आजादी के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने देश की परंपरागत चली आ रही राजनीति को भाई भतीजावाद, क्षेत्रवाद, भाषावाद, जातिवाद, मत और मजहब के दायरे में कैद से बाहर निकाला है। उन्होंने उसे गांव के लिए, गरीब के लिये, किसानों के लिए, नौजवानों के लिए, महिलाओं के लिए गरीब कल्याण के लिए और एक नये भारत को स्थापित करने के अभियान को आगे बढ़ाया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये बातें रविवार को मथुरा के महाविद्या स्थित रामलीला ग्राउण्ड में आयोजित जनसभा के दौरान कहीं। मुख्यमंत्री यहां भारतीय जनता पार्टी की जनविश्वास यात्रा को हरी झंडी दिखा कर रवाना करने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने आए थे। मथुरा से यात्रा अलीगढ़, हाथरस, आगरा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, कासगंज, बदायूं, शाहजहांपुर, पीलीभीत होते हुए बरेली में समाप्त होगी।

उन्होंने कहाकि विधानसभा चुनाव के पूर्व निकाली जाने वाली इन यात्राओं के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी केंद्र सरकार की 7.5 वर्षों की उपलब्धि और पांच वर्षों की प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच लेकर जा रही है। 2017 के चुनावों से पहले हमने यात्रा निकाली थी तब पूर्ववर्ती सरकार की खामियों को उजागर करते हुए हम जनता के बीच गए थे। इस बार हम अपनी उपलब्धियां बताने और जनता का आशीर्वाद लेने फिर से उनके बीच जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आज वह प्रत्येक नागरिक की जुबान पर सुनायी देता है। इस बारे में राजनैतिक दल व उनके लोग भले ही बात न करते हों लेकिन समाज के आम आदमी सरकार की गरीब कल्याण की योजनाओं से प्रसा है। समाज के अंतिम व्यक्ति तक बिना भेदभाव के योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है।

हम उनके इसी विजन को लेकर 2017 से जनता के हित के लिए, गरीब कल्याण की योजनाओं को सफलता पूर्वक धरातल पर उतारने में सफल रहे हैं। निर्धारित कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को वृंदावन स्थित हैलीपेड से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचना था लेकिन यहां से वह सीधे श्रीकृष्ण जन्मस्थान पहुंच गए और यात्रा को हरी झंडी दिखाने से पहले भगवान श्रीकृष्ण के दर्शन किए।

यहां उनके साथ श्रीकृष्ण जन्मस्थान के सचिव कपिल शर्मा के अलावा ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा एवं कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी भी रहे। उन्होंने जन्म स्थान पहुंचकर भगवान केशव देव, गर्भ ग्रह और भागवत भवन के दर्शन किए। भागवत भवन में सेवायतों ने विधि विधान से सीएम योगी को पूजा-अर्चना कराई, जहां मुख्यमंत्री ने जन विश्वास यात्रा की सफलता की कामना की।

गंगा एक्सप्रेस वे के उद्घाटन के अवसर पर जिस अंदाज में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपना भाषण शुरू किया था उसी अंदाजन में मथुरा में मुख्यमंत्री दिखे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधन की शुरूआत यमुना मैया, भारत माता और गौमाता के जयकारे से की। प्रधानमंत्री ने गंगा मैया के जयकार से अपना भाषण शुरू किया था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह मुख्यमंत्री बनने के बाद 19 वीं बार मथुरा आए हैं और दिसम्बर महीने की 19 वीं तिथि है। इस दिन का भारत के इतिहास में बहुत बडा महत्व है। आज का दिन गोवा मुक्ति का दिवस है। क्रांतिकारियों का दिन भी है। यहां के पूज्य संतों के आशीर्वाद से कुम्भ करने का अवसर मिला।

तब भी यहां आया। आठ दिसम्बर को मांट में आयोजित जनसभा में कही गई कई बातों को फिर से दोहराया। उन्होंने सपा की अखिलेश सरकार के दौरान हुए कोसीकला के सांप्रदायिक दंगों से लेकर जवाहरबाग कांड तक का जिक्र कर सपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि गरीब को सुरक्षा का वातावरण भाजपा ने दिया। आतंकवाद मिटाएंगे। 370 धारा हटाई है।

विधवा महिला व वृद्धावस्था को पेंशन एक हजार रुपये किया। गरीबों को निशुल्क राशन दिया। सभी को फ्री वैक्सीन दी है।  एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना तैयार की है। मां विंदयवासिनी में भव्य धाम बन रहा है। हमने विकास सबका किया है, तुष्टीकरण किसी का नहीं किया।