breaking news New

स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम, मेट्रो स्टेशन नहीं होंगे बंद

स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम, मेट्रो स्टेशन नहीं होंगे बंद

नयी दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है और सड़क यातायात व्यवस्था में बदलाव किये गये हैं लेकिन मेट्रो सेवाएं सामान्य रहेंगी।

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता चिनमय बिस्वाल ने शुक्रवार को ‘यूनीवार्ता’ को बताया सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं। लाल किला और अन्य संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ जगह-जगह केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल के जवान निगरानी कर रहे हैं। शहर के प्रमुख प्रवेश मार्गों पर अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं। संदिग्ध वाहनों की तलाशी की जा रही है। नयी दिल्ली और पुरानी रेलवे स्टेशनों के सभी प्रवेश द्वारों पर जांच के बाद यात्रियों एवं उनके सामानों की मुकम्मल जांच की व्यवस्था है। मेट्रो रेल स्टेशनों पर सतर्कता पहले से अधिक की जा रही है। शहर के सभी प्रमुख संवेदनशील स्थानों पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षा कर्मी सुरक्षा निगरानी में तैनात किये गये हैं।

उन्होंने बताया कि महाराणा प्रताप (कश्मीरी गेट) और सराय काले खां अंतरराज्जीय बस अड्डा (आईएसबीटी) सुरक्षा बरती जा रही है। वहां दिल्ली पुलिस के अलावा केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है।

दिल्ली मेट्रो के पुलिस उपायुक्त जितेंद्र मनी ने बताया कि सभी मेट्रो स्टेशनों सामान्य रूप से संचालित किये जाएंगे। कोई भी स्टेशन बंद नहीं किया जाएगा। यात्रियों समुचित सुरक्षा जांच के बाद सिर्फ एक द्वार से प्रवेश एवं निकास की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा निगरानी के लिए पुलिस के विशेष दस्ते हर मेट्रो स्टेशन पर तैनात किये गये हैं।

दिल्ली यातायात पुलिस के मुताबिक 15 अगस्त को लाल किले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से पूर्व आसपास की सड़कों पर आम वाहनों की आवाजाही पर तड़के चार बजे से पूर्वाह्न 10 बजे तक प्रतिबंध लगा दिया गया है। सिर्फ समारोह के लिए जारी विशेष पास धारकों एवं उनके वाहन को छूट दी गई है। पूर्वाह्न 10 बजे के बाद लाल किले एवं उसके आसपास आम वाहनों की आवाजाही सामान्य हो जाएगी।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कई माह से चल रहे किसान आंदोलन के मद्देनजर दिल्ली के सीमा क्षेत्रों में दिल्ली पुलिस के अलावा केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बलों की संख्या बढ़ा दी गई है। बॉर्डर सील कर दिये गये हैं तथा वाहनों की आवाजाही पर विशेष नजर रखी जा रही है। प्रमुख स्थानों पर बैरिकेडिंग कर संदिग्ध वाहनों एवं लोगों को तलाशी ली जा रही है। सुरक्षा जांच के कारण शुक्रवार को कई क्षेत्रों में वाहन रेंगते हुए नजर आये।