breaking news New

राष्ट्रीय राजधानी संसोधन विधेयक (2021) , लोकतंत्र की हत्या : नीरज साहू

राष्ट्रीय राजधानी संसोधन विधेयक (2021) , लोकतंत्र की हत्या : नीरज साहू


कोरिया, 17 मार्च। आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ युवा नेता नीरज साहू ने दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा लाये गए राष्ट्रीय राजधानी संसोधन विधेयक 2021 का विरोध करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में लगातार अपनी हार से बौखलायी हुई है इसलिए आम आदमी पार्टी से बदला लेने की नीयत से यह विधेयक लाया गया है । लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुनी हुई सरकार इस विधेयक के आने के बाद केंद्र द्वारा प्रतिनियुक्त अफसर (उपराज्यपाल ) के मातहत रहेगी , सारी शक्तियां राज्यपाल के पास रहेंगी। 

श्री साहू ने कहा कि 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेशित किया था कि दिल्ली के अंदर फैसले लेने के लिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चुनी हुई सरकार के पास पूरा हक़ है जिसमे LG सिर्फ अपनी राय दे सकते हैं परंतु केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को नकार कर यह संसोधन विधेयक 2021 पारित किया जो कि सरासर लोकतंत्र की हत्या है। बिल में कहा गया है कि राज्य के विधानसभा द्वारा बनाये गए किसी भी कानून में सरकार का मतलब उपराज्यपाल होगा , यह दिल्ली की जनता के साथ धोखा है। इस बिल से दिल्ली सरकार उपराज्यपाल के सामने सिर्फ याचिकाकर्ता बनके रह जायेगी। आज एक ओर दिल्ली मॉडल की चर्चा देश-विदेश में जोर शोर से हो रही है तो वहीं केंद्र की गलत नीतियों का विरोध भारत ही नही अपितु समूचे विश्वपटल पर हो रहा है, ऐसे में इस प्रकार का तानाशाही विधेयक लाना बीजेपी की विफलता को दर्शाता है। धर्म के नाम पर लोगों को बरगलाने वाली , देश के करोड़ों लोगों के टैक्स से बने शासकीय संपत्ति को बेचने वाली भारतीय जनता पार्टी को आम आदमी पार्टी से इतना डर हो गया है कि अब चीन की तरह तानाशाही रवैया दिखा रही है। सत्ता के नशे में चूर बीजेपी का अंत समय आ गया है , अब जनता जुमलेबाजों और फर्जी राष्ट्रभक्तों को पहचान रही है। अगर केंद्र सरकार द्वारा पारित राष्ट्रीय राजधानी संसोधन विधेयक 2021 वापस नहीं लिया तो आम आदमी पार्टी दिल्ली के साथ पूरे देश में केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन करेगी और बीजेपी को केंद्र की सत्ता से उखाड़ के फेंक देगी।