breaking news New

रायपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की पहल शुरू : कोतवाली चौक से जयस्तंभ चौराहे के बीच की वायरिंग रहेगी अंडरग्राउंड

रायपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की पहल शुरू : कोतवाली चौक से जयस्तंभ चौराहे के बीच की वायरिंग रहेगी अंडरग्राउंड

रायपुर।  नगर निगम और स्मार्ट सिटी ने मालवीय रोड पर कोतवाली चौक से जयस्तंभ चौराहे के बीच की वायरिंग अंडरग्राउंड करने की ठान ली है । अब  राजधानी के सबसे व्यस्तम बाजार में  वायरों का जाल नजर नहीं आएगा। पूरी वायरिंग अंडर ग्राउंड रहेगी। ऐतिहासिक गोलबाजार को स्मार्ट बाजार बनाने के बाद जवाहर बाजार, सिटी कोतवाली थाना के साथ अब शहर के लोगों को एक और महत्वपूर्ण सौगात मिलने वाली है।

 नगर निगम और स्मार्ट सिटी ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। सोमवार को निगम की टीम ने पूरे एरिया का सर्वे किया। 31 दिसंबर मंगलवार को इस काम के टेंडर जारी कर दिए जाएंगे। 20 दिन में ही वर्क आर्डर जारी करने का प्लान है।

मालवीय रोड शहर की सबसे प्रमुख रोड होने के साथ राजधानी का मुख्य मार्केट हब है। इसी रोड से सदर का सराफा बाजार जुड़ा है। गोलबाजार, शास्त्री मार्केट और जवाहर बाजार भी इसी रोड से कनेक्ट हैं। अभी इस रोड पर वायरिंग सिस्टम पुराना है।

 सोमवार को महापौर एजाज ढेबर के साथ अफसरों ने मालवीय रोड का निरीक्षण किया। इस दौरान पूरे प्लान की दिक्कतों की समीक्षा कर उसे दूर करने के निर्देश दिए गए। बिजली के खंभे भले ही बीच में लगे हैं, लेकिन वायरों का जाल रोड पर फैला है। अंडर ग्राउंड किए जाने से बाजार की शोभा बढ़ जाएगी। नगर निगम और रायपुर स्मार्ट सिटी तथा छत्तीसगढ़ बिजली कंपनी ने बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। 

स्मार्ट सिटी की प्लानिंग के तहत शहर के एबीडी एरिया के 777 एकड़ क्षेत्र में बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करना है, लेकिन तकनीकी दिक्कतों की वजह से पिछले चार साल में ये प्रोजेक्ट ही अटका है। एबीडी एरिया शहर के डेंस पापुलेशन यानी घनी आबादी वाला इलाका है। इसी के दायरे में सभी प्रमुख बाजार, रिहायशी इलाके, कांप्लेक्स और सरकारी व निजी दफ्तर हैं। सड़कें भी काफी संकरी हैं। दिनभर वाहनों का दबाव भी काफी ज्यादा रहता है। इसलिए पूरे एबीडी एरिया में अंडरग्राउंड केबल बिछाने के लिए पूरी सड़कों की खुदाई करने से दिक्कतें बढ़ने का खतरा है। इसलिए एबीडी एरिया में यह काम अब तक शुरू नहीं हो पाया। बिजली कंपनी ने तेलघानी नाका से इसका काम शुरू करने का प्रयास किया था।

31 दिसंबर तक इस काम का टेंडर कर दिया जाएगा। इसके बाद अगले 15-20 दिनों में इसका वर्कआर्डर जारी करने के साथ काम भी शुरू हो जाएगा। निगम ने इसे पायलेट प्रोजेक्ट के तौर पर लिया है। मालवीय रोड को सुंदर बनाने के बाद शहर के अन्य प्रमुख बाजारों और सड़कों में भी बिजली के तारों को अंडरग्राउंड करने के साथ उन जगहों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा।

सोमवार को महापौर ढेबर के साथ एमआईसी सदस्य श्रीकुमार मेनन, सतनाम सिंह पनाग, अजीत कुकरेजा, राधेश्याम विभार व रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड व छत्तीसगढ़ राज्य पावर वितरण कंपनी के अधिकारी जयस्तंभ चौराहे से कोतवाली चौक तक पैदल निरीक्षण करने निकले। महापौर ने रोड के सर्वे के बाद अफसरों को जल्द से जल्द इसका काम शुरू करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर रायपुर को सुंदर स्मार्ट सिटी बनाने की दिशा में पहल शुरू की गई है। इसके लिए नगरीय प्रशासन व विकास विभाग भी हर स्तर पर सहयोग कर रहा है।