breaking news New

ट्राईफेड के वनधन सम्मेलन में शामिल हुए केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुण्डा व साँसद दीपक बैज, वनधन विकास केंद्रों को दिए पुरस्कार

ट्राईफेड के वनधन सम्मेलन में शामिल हुए केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुण्डा व साँसद दीपक बैज, वनधन विकास केंद्रों को दिए पुरस्कार


जगदलपुर .केन्द्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री  अर्जुन मुण्डा ने कहा कि बाबू सेमरा का यह ट्राईफूड पार्क पूरे देश में एक आदर्श फूड पार्क के रूप में स्थापित होगा। जो अपने उच्च गुणवत्ता के उत्पादों के कारण बस्तर के नाम को पूरे देश और दुनिया को परिचित करने के अलावा स्वरोजगार प्रदान कराने वाला महत्वपूर्ण केन्द्र बनेगा। केन्द्रीय मंत्री  मुण्डा शुक्रवार को ट्राईफेड के वनधन सम्मेलन 2021 कार्यक्रम में शामिल होने सेमरा स्थित फूड पार्क पहुंचे थे।

 मुण्डा ने कहा कि ट्राईफूड प्रदेश में एक मात्र लघु वनोपज उत्पाद केन्द्र के रूप में इसके संकल्पना को साकार करने जा रहा है। यह उत्पादन केन्द्र के रूप में राज्य का केन्द्र बनेगा इसके माध्यम से बड़ी संख्या में वनोपज उत्पाद को बाजार उपलब्ध होगा। ट्राईफूड के माध्यम से लघु वनोपज ऐथिनिक प्रोडेक्ट, हैण्डीक्राप्ट, हैण्डलूम, आर्गेनिक फूड सप्लिमेंट आदि के परिस्कृत उत्पाद को प्रस्तुत किया जाएगा। ट्राईफेड के माध्यम से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजार में वनोपज आधारित वैल्यू एडेड उत्पाद को बेहतर बाजार मिलेगा। श्री मुण्डा ने कहा कि ट्राईफेड की शुरुआत के समय 7 उत्पादों का न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया था, वर्तमान में 50 से अधिक उत्पादों का न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने बहुत ही कम अवधि में इस बेहतरीन फूड पार्क स्थापना के लिए जिला प्रशासन एवं कलेक्टर श्री रजत बंसल के कार्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद  दीपक बैज ने कहा कि बस्तर अपने गौरवशाली  सांस्कृतिक विरासत एवं बहुमूल्य वन सम्पदा के कारण पूरे देश में विख्यात है। यहां पर चार चिरौंजी, टोरा जैसे बेस किमती और बहुमूल्य वनोपज उपलब्ध है। राज्य सरकार के द्वारा वनोपज एवं वन उत्पादों को संग्रहणकर्ताओं के घरों से ही खरीदने की व्यवस्था की गई है।जिससे कि संग्रहणकर्ताओं को इन उत्पादों का उचित दाम मिलने के साथ-साथ उन्हें विपणन की भी सुविधा मिल सके।

इस अवसर पर ट्राईफेड के प्रबंध निदेशक  प्रवीर कृष्ण ने ट्राईफेड के कार्यो एवं उद्देश्यों की जानकारी देते हुए कहा कि बाबू सेमरा का यह फूड पार्क पूरे देश के लिए रोल माॅडल बनेगा।

कार्यक्रम में प्रबंध निदेशक छत्तीसगढ़ राज्य लघु वनोपज  संजय शुक्ला, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक  डी आनंद बाबू, कमिश्नर जीआर चुरेन्द्र, सीसीएफ  मोहम्मद शाहीद, कलेक्टर रजत बंसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  जितेन्द्र मीणा, वन मण्डलाधिकारी स्टायलो मण्ड़ावी, सीईओ जिला पंचायत ऋचा प्रकाश चैधरी सहित अन्य अधिकारी और जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

केन्द्रीय मंत्री  मुण्डा ने की बस्तरिया उत्पादों की प्रशंसा

जनजातीय मामलों के केन्द्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुण्डा ने सेमरा ट्राईफेड में लगाए गए स्टाल में बस्तरिया उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया और यहां के उत्पादों की सराहना की। उन्होंने यहां वनधन विकास समिति से जुड़ी स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा इमली, काजू, तैलीय बीज, मुसली और महुआ के प्रसंस्करण के साथ ही गढ़ कलेवा के स्थानीय व्यंजन, हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा स्थापित शबरी के हस्तशिल्प, बस्तर कलागुड़ी कलाकृतियां, रेशम उत्पादन, हरिहर बस्तर के उत्पाद, ट्राईब्स इंडिया के उत्पाद, बस्तर पपीता, बस्तर कॉफी, बांस कला केन्द्र और हथकरघा से तैयार उत्पादों का अवलोकन किया।

वनधन विकास केंद्रों को मिला सम्मान

ट्राईफेड द्वारा आयोजित वनधन सम्मेलन 2021 में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुण्डा ने वन धन विकास केंद्रों को 5 वर्ग में संचालन के पैमाना, उत्पाद का अधिकतम बिक्री, मूल्य वर्धित वस्तुओं की श्रेणी, एमएफपी योजना के तहत् समर्थन मूल्य पर खरीदी एवं मार्केटिंग के लिए नवाचार और रचनात्मक विचार के आधार पर सम्मानित किया गया। छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले से वन धन केंद्र कुरूंदी, बकावण्ड, घोटिया और धुरागांव को अवार्ड मिला। इसके अलावा राज्य के वन धन केंद्र कडेना धरमजयगढ़, वन धन केंद्र गरियाबंद, वन धन केंद्र डोंगानाला कटघोरा, वन धन केंद्र बरोडा बलौदा बाजार, वन धन केंद्र कौरिनभाटा राजनांदगांव, वन धन केंद्र दुगली धमतरी, वन धन केंद्र नारायणपुर, वन धन केंद्र पनचक्की जशपुर को भी विभिन्न वर्गो में अवार्ड मिले।