breaking news New

लोहत्तर थानेदार द्वारा लकड़ी चोरी, वन अपराध दर्ज, डीएफओ,एसडीओ के मार्गदर्शन पर टीम ने की कार्यवाही

लोहत्तर थानेदार द्वारा लकड़ी चोरी, वन अपराध दर्ज,  डीएफओ,एसडीओ के मार्गदर्शन पर टीम ने की कार्यवाही


भानुप्रतापपुर, 14 जून। वन विभाग के टीम ने बिती रात को घेराबंदी करते हुए दो लाख रुपये के अवैध सौगोंन लकड़ी के निर्मित फर्नीचर लकड़ी पकड़ने में सफलता मिली है। बताया जा रहा है कि उक्त फर्नीचर लोहत्तर थानेदार द्वारा चोरीछिपे ले जाने की बात सामने आ रही है। जप्त की गई लकडी एवं वाहन पर के आधार पर वन अपराध प्रकरण क्रमांक 11339/17 दिनांक 14/06/2021 दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। 

मिली जानकारी के अनुसार  13 जून को मुखबिर की सूचना पर  रात्रि में लोहत्तर थानेदार महेश कुमार साहू द्वारा सागौन से अवैध रूप से निर्मित फर्नीचर जिसमें दीवान, सोफासेट, डायनिंग आदि लोहत्तर से कहीं बाहर ले जाने वाले हैं। 


सूचना मिलते ही  वनमण्डलाधिकारी मनीष कश्यप (भा.व.से.) एवं उप वनमण्डलाधिकारी  आर.के.रायस्त के निर्देशानुसार वन परिक्षेत्र अधिकारी  देवलाल दुग्गा के नेतृत्व में दो टीम गठित कर लोहत्तर से बाहर जाने वाले संभावित रास्ते पर तैनात किया गया। रात्रि लगभग 12:40 बजे एक पिक-अप गाड़ी क्रमांक CG24L2558 दुर्गूकोन्दल और मानपूर सीमा पर पहुंचा, जिसे रोकने पर गाड़ी में सागौन से निर्मित फर्नीचर पाया गया। जिसका कागजात पूछने पर कोई कागजात नही होना बताया गया। पिक-अप गाड़ी के पीछे चार मोटर साइकिल में रायफल लेकर पुलिस वाले चल रहे थे ।पिक-अप पकड़ाने पर गाड़ी ड्राइवर के साथी एवं पुलिस वाले फरार हो गए। वन विभाग की टीम द्वारा गाड़ी को जप्त कर भानुप्रतापपुर वन विश्राम गृह लाकर लकड़ी का नापजोख किया गया जप्तीनामा तैयार किया गया और वन अपराध प्रकरण क्रमांक 11339/17 दिनांक 14/06/2021 दर्ज कर विवेचना में लिया गया है। जप्त कुल लकड़ी दीवान 4सेट =1.584घ.मी.,दरवाजा फ्रेम 2नग =0.390घ.मी.,डायनिंग 1सेट=0.768 घ.मी.और चौखट कड़ी 4नग =0.008घ.मी.कुल =2.750घ.मी. अनुमानित कीमत 20000/- ( दो लाख रुपए मात्र)कार्यवाही दल में  देवलाल दुग्गा वन परिक्षेत्र अधिकरी दुर्गूकोन्दल, संतूराम दुग्गा परिक्षेत्र सहायक लोहत्तर, सोमनाथ कोड़ोपी परिक्षेत्र सहायक दुर्गूकोन्दल, रामचरण नेगी परिक्षेत्र सहायक भुषकी, जहेन्द्र मण्डावी परिक्षेत्र सहायक कोण्डे, चित्रसेन कंचन परिक्षेत्र सहायक दमकसा, चन्द्रदेव कोड़ोपी वनरक्षक, थानसिंह उईके वनरक्षक, रमेश नेताम वनरक्षक, मयाराम दुग्गा वनरक्षक, देवसिंह कांगे वनपाल और वाहन चालक यशवंत दर्रो थे।

 विभाग के छबि धूमिल 

पुलिस विभाग के एक जवाबदार अधिकारी द्वारा अवैध रूप से लकड़ी चोरी किये जाना अशोभनीय कार्य है। अधिकारी के ऐसे कार्य के चलते विभाग के विभाग के छबी धूमिल होती है। ऐसे अधिकारी पर विभाग कितने सख्त होती है देखने वाली बात होगी।