breaking news New

लोकेश दादा कवि द्वारा हल्बी गोंडी लोकगीतों के माध्यम से कोरोना की रोकथाम का किया जा रहा प्रचार

लोकेश दादा कवि द्वारा हल्बी गोंडी लोकगीतों के माध्यम से कोरोना की रोकथाम का किया जा रहा प्रचार

दंतेवाड़ा जिले में कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए धारा 144 लॉक डाउन में अनावश्यक किसी को भी घर से निकलने की अनुमति नहीं दे रहा है वहीं दूसरी ओर कोरोना कॉल में कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए लोग अपने घरों से नहीं निकल रहे हैं वहीं दूसरी ओर गीदम में रहने वाले कवि लोकेश दादा हल्बी गोंडी भाषा में कविता के माध्यम से कोरोना की दवा कर लोगों को संदेश दे रहे हैं कि कोरोना काल में कोविड 19  नियमों का पालन करते हुए घरों में ही रहे और अनावश्यक घर से ना निकले

जो सोशल मीडिया में बहुत ही वायरल हो रहा है और लोग बाग गोंडी हल्बी भाषा में इसे सुन भी रहे हैं इस गोंडी हल्बी भाषा के गीत को नगर पालिका विभाग द्वारा लाउडस्पीकर के माध्यम से मुनादी भी करा रहा है जिससे अंदरूनी क्षेत्र के गांव में ग्रामीण गोंडी हल्बी भाषा में इस गाना को सुनकर कोरोना नियमों का पालन करें