breaking news New

बारसूर में आयोजित सामूहिक विवाह, 116 जोड़े ने एक साथ लिए फेरे

बारसूर में आयोजित सामूहिक विवाह, 116 जोड़े ने एक साथ लिए फेरे

दंतेवाड़ा, 23 मार्च। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत जिला मुख्यालय के बारसूर में आयोजित सामूहिक विवाह में 116 वर-वधू दाम्पत्य सूत्र में बंधे। समारोह की मुख्य अतिथि देवती कर्मा ने कहा कि प्रत्येक माता-पिता को अपने बच्चों के शादी की चिंता होती है। आज के समय में शादी में लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं, सामूहिक विवाह के माध्यम से कम खर्च में एक ही मंच पर एक से अधिक जोड़ों का विवाह संपन्न हो जाता है।  और गरीबी होने के कारण वह शादी नहीं पर पाते हैं, इसी कारण मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का लाभ मिले।

 कर्मा ने कहा कि राज्य शासन ने कन्या विवाह योजना में शामिल वर-वधू को सहायता राशि 15 से बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दिया गया है। और किसी प्रकार दिव्यांग दंपतियों को 50 हजार रुपये से बढ़ाकर एक लाख रुपये की छत्तीसगढ़ शासन द्वारा  सहायता दी जा रही है। साथ ही राष्ट्रीय परिवार सहायता योजनांतर्गत चार हितग्राहियों को 20-20 हजार रुपये आर्थिक सहायता राशि का चेक प्रदान किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए तुलीका कर्मा ने सामूहिक विवाह में शामिल नवदंपतियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते कहा कि एक मंच पर 116 जोड़ों का विवाह संपन्न हो रहा है, जो बहुत ही खुशी की बात है। बस्तर संभाग हमेशा सरकार की प्राथमिकता में रही है। जिला पंचायत सीईओ ने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में जिले के बारसूर और गीदम विकास खण्ड में  से कुल 116 जोड़ों में सभी आदिवासी समुदाय के शामिल हैं। इन सभी नवदंपतियों को घरेलू उपयोग के लिए 19 हजार रुपये की सामग्री प्रदान करने के साथ ही एक हजार रुपये नगद प्रदान किया जा रहा है। इस मौके पर प्रशासनिक अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधि  जिला पंचायत सदस्य सुलोचना कर्मा, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष अमूलकर नाग, अध्यक्ष बारसूर नगर पंचायत उमेश्वर पुजारी, उपाध्यक्ष बद्रीनाथ पुजारी बारसूर , निकिता पुजारी, कृष्ण कुमार नाग,हेम कुमार नाग, आसिफ रज्जा,रैतु मंडावी ,राकेश मंडावी , पुरषोत्तम यादव, कन्हैया मांझी, नितेश नेगी, शंकाबती नाग, तथा देवरथ विश्वास सहित बड़ी संख्या में दूल्हा-दुल्हन के परिजन मौजूद थे।