breaking news New

कलेक्टर रजत बंसल ने की बस्तर और बकावंड विकासखण्ड के विकास कार्यों की समीक्षा

कलेक्टर  रजत बंसल ने की बस्तर और बकावंड विकासखण्ड के विकास कार्यों की समीक्षा

कलेक्टर  रजत बंसल ने की बस्तर और बकावंड विकासखण्ड के विकास कार्यों की समीक्षा

तीन सचिव निलंबितपीएचई के ईई, एनआरएलएमएम के बीपीएम और कृषि विभाग के दो एसएडीओ को कारण बताओ नोटिस

गौठान निर्माण में लापरवाही बरतने वाले सचिवों और आंगनबाड़ी केन्द्र में निर्माण सामग्री रखने वाले सरपंच को नोटिस



*जगदलपुर . कलेक्टर  रजत बंसल ने बस्तर और बकावंड विकासखण्ड में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान कार्यों की धीमी गति पर नाराजगी जाहिर करते हुए तीन पंचायत सचिवों को निलंबित करने के साथ ही लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के ब्लाॅक प्रोग्राम मैनेजर और कृषि विभाग के वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा है।

कलेक्टर बंसल ने बस्तर जनपद पंचायत कार्यालय के सभागार में आज बस्तर एवं बकावंड जनपद पंचायत तथा बस्तर नगर पंचायत क्षेत्र में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान बस्तर विकासखण्ड के बोड़नपाल-2 और बकावंड विकासखण्ड के सौतपुर में आंगनबाड़ी निर्माण तथा दशापाल में पंचायत भवन के निर्माण में लापरवाही बरतने पर संबंधित ग्राम पंचायत के सचिवों को निलंबित करने के निर्देश दिए। वहीं जल जीवन मिशन की धीमी गति पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता और गोधन न्याय योजना के तहत हितग्राहियों तक लाभ पहुंचाने में विफल रहने के लिए राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर व विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने पर बस्तर और बकावंड विकासखण्ड के कृषि विभाग के वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा है। इसके साथ ही गौठानों में शेड एवं अन्य अधोसरंचनाओं के निर्माण में लापरवाही बरतने वाले सचिवों से भी स्पष्टीकरण मांगा है।


कलेक्टर श्री बंसल ने बस्तर और बकावंड विकासखण्ड में संचालित विकास कार्यों की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान वन मंडलाधिकारी सुश्री स्टायलो मंडावी, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चैधरी, सहायक कलेक्टर सुश्री सुरुचि सिंह, अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री गोकुल रावटे सहित दोनों जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में कोरोना टीकाकरण एवं जांच की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने दोनों ही विकासखण्डों की सीमाओं में जांच को नियमित तौर पर जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने शासकीय कार्यालयों में पहुंचकर भी कोरोना जांच के निर्देश देते हुए सभी अधिकारी-कर्मचारियों को कोरोना का टीका अनिवार्य तौर पर लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने हाट-बाजार क्लीनिक की समीक्षा करते हुए बाजार स्थल में इसके लिए चबूतरा का निर्माण करने और शौचालय सहित अन्य आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जल जीवन मिशन के तहत स्वीकृत कार्यों को बकावंड विकासखण्ड के बेहतर क्रियान्वयन पाते हुए बस्तर विकासखण्ड में एक सप्ताह के भीतर कार्य में गति लाने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी ने मुख्यमंत्री कुपोषण योजना के बेहतर क्रियान्वयन के संबंध में निर्देशित किया। उन्होंने आंगनबाड़ियों के साथ ही हितग्राहियों और महिला स्व सहायता समूहों के यहां एक एकड़ से अधिक क्षेत्रफल की भूमि में बाड़ियां विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कुपोषण को दूर करने के लिए महिलाओं के भोजन को भी बेहतर पोषण युक्त बनाने पर जोर दिया। माह के पहले गुरुवार को प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्र में जनसहयोग से बालभोज आयोजित करने के निर्देश भी दिए। आंगनबाड़ी केन्द्रों में शौचालय और रनिंग वाटर की व्यवस्था के संबंध में भी निर्देशित किया। बालेंगा स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में सरपंच द्वारा निर्माण सामग्री रखे जाने की जानकारी मिलने पर उन्होंने धारा 40 के तहत नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही यहां शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, लोक स्वास्थ्य स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग सहित अन्य विभाग के कार्यों की समीक्षा की गई।


लर्निंग आउटकम का विमोचन

इस अवसर पर कलेक्टर श्री बंसल ने शिक्षा विभाग द्वारा तैयार लर्निंग आउटकम का विमोचन भी किया।