breaking news New

कृषि कानून का समर्थन करने के अलावा संगठन मंत्रियों की बैठक में PM मोदी की थपथपाई पीठ

कृषि कानून का समर्थन करने के अलावा संगठन मंत्रियों की बैठक में PM  मोदी की थपथपाई पीठ

 नई दिल्ली । भाजपा की राष्ट्रिय  पदाधिकारियों, प्रदेश प्रभारियों और संगठन मंत्रियों की बैठक में प्रस्ताव पारित कर कृषि कानून का समर्थन करने के अलावा पीए मोदी की पीठ थपथपाई गई। तीनों नए कृषि कानूनों को कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए जरूरी बताते हुए प्रस्ताव में कहा गया है कि कांग्रेस और वाम दल राजनीतिक कारणों से किसान आंदोलन को लंबा खींचने की साजिश रच रहे हैं। कानूनी वापसी की जिद को अस्वीकार्य बताते हुए कहा गया है कि किसान संगठन कानूनों से जुड़ी अपनी आपत्तियों और सुझावों से सरकार को अवगत कराएं।

रविवार को हुई इस बैठक के बीच प्रेस ब्रीफिंग में पार्टी के राष्टï्रीय उपाध्यक्ष डा. रमन सिंह ने बताया कि इसमें कृषि संबंधी प्रस्ताव में कृषि कानूनों का समर्थन किया गया। उन्होंने कहा कि इसे एक वर्ग को छोड़ कर देश के बड़े वर्ग का समर्थन हासिल है। इस क्षेत्र में सुधार की जरूरत है और पीएम मोदी ने इस ओर पहल की है।

उन्होंने किसान आंदोलन को कांग्रेस और वाम दलोंं की साजिश बताया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक कारणों से आंदोलन को लंबा खींचने का प्रयास किया जा रहा है। जहां तक सरकार का सवाल है तो अब भी वार्ता के लिए उसके दरवाजे खुले हैं। किसानों को महज तीनों कानूनों की वापसी की जिद छोड़ कर कानून की खामियां और अपने सुझावों से सरकार को अवगत कराना चाहिए।

कोरोना-चीन पर भी पीएम की तारीफ

इस दौरान कोरोना महामारी से निपटने और चीन से जुड़े विवाद पर भी पार्टी ने मोदी की तारीफ की। प्रस्ताव में कहा गया है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में देश सफल राष्टï्र-स्पष्टï नीति के साथ आगे बढ़ रहा है। पीएम के नेतृत्व में देश और सरकार की नीति स्पष्टï है। हम न किसी से आंख झुकाकर बात करेंगे न आंख दिखा कर। हम आंख मिला कर बात करेंगे। प्रस्ताव में कहा गया है कि कोरोना महामारी के दौरान दुनिया की निगाहें भारत पर थी। किसी को उम्मीद नहीं थी कि भारत इस महामारी की चोट से उबर पाएगा। हालांकि पीएम मोदी के नेतृत्व में देश न सिर्फ इस महामारी से पार पाने की ओर आगे बढ़ रहा है, बल्कि पूरी दुनिया को नया रास्ता दिखा रहा है।