breaking news New

कोरोना पर वार के लिए मास्क ही ब्रह्मास्त्र कोरोना जागरुकता को लेकर दुर्ग पुलिस अलर्ट - एसपी प्रशांत ठाकुर

कोरोना पर वार के लिए मास्क ही ब्रह्मास्त्र कोरोना जागरुकता को लेकर दुर्ग पुलिस अलर्ट - एसपी प्रशांत ठाकुर

भिलाई, 13 नवम्बर। इन दिनों कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए शासन प्रशासन हर स्तर पर अपने प्रयास कर रहा है। कोरोना वारियर्स के रूप में स्वास्थ्य अमले से लेकर सफाई अमला तक काम कर रहा है। पुलिस विभाग जांबाज भी इन्हीं कोरोना वारियर्स में से एक है। कोरोना काल में दुर्ग पुलिस की कार्ययोजना सराहनीय रही है। चाहे वह लोगों को जागरुक करने में हो या लापरवाह लोगों को सबक सिखाने में हो, हर क्षेत्र में दुर्ग पुलिस के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। दुर्ग के पुलिस कप्तान का नेतृत्व जवानों के लिए संजीवनी की तरह रहा है। विशेष चर्चा के दौरान दुर्ग एसपी प्रशांत ठाकुर ने कोरोना संक्रमण के दौरान विभाग की सक्रियता को लेकर कई बातें कही। वहीं उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना पर वार के लिए मास्क ही ब्रह्मास्त्र है। 

एसपी प्रशांत ठाकुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार भले ही कम हुई है लेकिन अभी कोरोना खतरा टला नहीं है। हमारे लिए यह समय बेहद संयम वाला है। जरा सी लापरवाही भी किसी की जान ले सकती है। दुर्ग पुलिस लगातार लोगों को जागरुक करने की दिशा में काम कर रहा है। चौक चौराहों पर हम जिंगल के माध्यम से लोगों को लगातार सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने व हाथों को सेनेटाइज करने की सीख दे रहे हैं। यही नहीं चौक चौराहों पर ड्यूटी कर रहे हमारे जवान भी लोगों को जागरुक करते हुए अपना काम कर रहे हैं। एसपी ठाकुर ने कहा कि पिछले दिनों दुर्ग पुलिस द्वारा कोरोना जागरुकता पर एक कार्यक्रम भी किया जिसमें लोगों को कोरोना से बचाव के लिए जागरुक किया गया। 

दो गज की दूरी सभी के लिए जरूरी

एसपी प्रशांत ठाकुर ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए दो गज की दूरी सभी के जिए जरूरी है। वर्तमान समय हम सभी के लिए परीक्षा का समय है। कोरोना को हराना है तो शासन द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन किया जाना जरुरी है। यह किसी एक व्यक्ति के प्रयास से संभव नहीं बल्कि हम सभी को सम्मिलित प्रयास करना होगा तभी कोरोना को हरा पाएंगे। त्योहारी सीजन में लोगों से एक ही अपील है जरूरी नहीं है तो बाजार न जाएं और यदि जाना भी पड़े तो एक व्यक्ति ही निकले। कम से कम लोग बाजार के लिए निकलेंगे तो भीड़ भी कम होगी और हम कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल होंगे।