कोरोना के बीच इराक से आये नवजात शिशु के हृदय की Surgery कर डाक्टरों ने बचाई जान

कोरोना के बीच इराक से आये नवजात शिशु के हृदय की Surgery कर डाक्टरों ने बचाई जान

मुंबई।  महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से पूरी दुनिया जूझ रही और इस महामारी के बीच इराक से आये एक नवजात शिशु की जान डाक्टरों ने उसके हृदय की शल्यक्रिया कर बचा लिया।

प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार कोकिलाबेन धीरूभाई अम्‍बानी हॉस्पिटल के चिल्‍ड्रेंस हार्ट सेंटर के निदेशक डॉ. सुरेश राव की देखरेख में विशेषीकृत पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जरी टीम ने डी-टीजीए का सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया। डी-टीजीए में दो प्रमुख धमनियां - बायीं धमनी और फुफ्फुस धमनी अपनी सामान्‍य स्थितियों में नहीं होतीं और शिशु का एट्रियल सेप्‍टल डिफेक्‍ट (हृदय की भित्ति में छिद्र) को बंद करने के लिए आर्टेरियल स्विच ऑपरेशन 30 सितंबर को सफलता पूर्वक किया गया।

डॉ. सुरेश राव ने कहा, ''शिशु को जन्‍म से ब्‍लू बेबी की समस्‍या थी, रिपोर्ट्स से पता चला कि उसे अत्यंत जटिल हृदय रोग है। सरल तरीके से कहें, तो शिशु के शरीर में रक्‍त की आपूर्ति उल्‍टी हो गयी थी, और शीघ्र सही सर्जरी के बिना, यह समस्‍या जानलेवा हो सकती थी।

शिशु को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी। उसके अभिभावक खुश हैं और अपने देश वापस जाने की तैयारी में हैं।