breaking news New

पीएम ने कहा -असम की बहनों के श्रम के प्रतीक, गमोसा का सरेआम अपमान

पीएम ने कहा -असम की बहनों के श्रम के प्रतीक, गमोसा का सरेआम अपमान

नईदिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कल पूरे असम ने देखा है कि कैसे असम की पहचान, असम की बहनों के श्रम के प्रतीक, गमोसा का सरेआम अपमान किया गया !
असम के कोकराझार में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गमोसा के अपमान का मसला उठाया. एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एआईयूडीएफ के बदरूद्दीन अजमल गमोसा को पहनने से इनकार कर देते हैं.  

इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है. खैर, पीएम मोदी ने इस वीडियो के जरिए अजमल पर निशाना साधा. असम को प्यार करने वाला हर व्यक्ति, इन तस्वीरों को देखकर बहुत आहत है, गुस्से में है, इस अपमान की सजा कांग्रेस को तो मिलेगी ही, पूरे महाझूठ को मिलेगी.

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि असम के नौजवानों में फुटबॉल बहुत फेमस है, उन्हीं की भाषा में कहूं तो कांग्रेस और उसके महाझूठ को फिर ‘रेड कार्ड’ दिखा दिया गया है !

पीएम ने कहा कि असम के विकास के लिए, यहां शांति और सुरक्षा एवं यहां के सम्मान और संस्कृति की सुरक्षा के लिए असम के लोगों का विश्वास NDA पर है. कोकराझार में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस एक महाझूठ बनाकर, एक बार फिर कोकराझार सहित पूरे बोडोलैंड टेरिटोरियल रीजन को छलने निकली है, जिस दल के नेताओं ने कोकराझार को हिंसा की आग में झोंका था, आज कांग्रेस ने अपना हाथ और अपना भाग्य उन लोगों को थमा दिया है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोकराझार के युवा, बहनें और यहां का हर नागरिक हिंसा का वो दौर भूला नहीं है, उस दौर में दिल्ली से लेकर गोवाहाटी तक कांग्रेस की सरकारें चुपचाप तमाशा देखती रहीं. कांग्रेस के कुशासन ने कैसे कोकराझार को सालों साल झुलसने दिया ये आप और हम कभी भी भूल नहीं सकते हैं।