breaking news New

अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस पर वर्चुअल योगाभ्यास कार्यक्रम का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस पर वर्चुअल योगाभ्यास कार्यक्रम का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ

कोरबा। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा वर्चुअल योगाभ्यास एवं योग परामर्श कार्यक्रम का शुभारंभ किया। अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में कोरबा के नवदृष्टि प्रशांति वृद्धाश्रम में रहने वाले बुजुर्ग नागरिक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। मुख्यमंत्री ने योग को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाने का सबसे सस्ता-सरल और सुलभ तरीक़ा बताया।

उन्होंने कोरोना महामारी के इस दौर में लोगों को बीमारी से निजात के साथ-साथ मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए योग की विशेष भूमिका भी बताई। यह कार्यक्रम छत्तीसगढ़ योग आयोग द्वारा कोविड-19 की चिकित्सा से स्वस्थ हुए व्यक्तियों, होम आइसोलेशन एवं क्वारेंटाइन में रह रहे व्यक्तियों, उनके परिवार के सदस्यों, वैक्सीन का प्रथम डोज ले चुके व्यक्तियों एवं वरिष्ठ नागरिकों सहित जन सामान्य में कोविड-19 के प्रभावों को कम करने एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के उद्देश्य से प्रारंभ किया गया है। योग की नि:शुल्क वर्चुअल कक्षाएं आगामी एक वर्ष तक चलेंगी। है। कार्यक्रम की अध्यक्षता समाज कल्याण मंत्री एवं छत्तीसगढ़ योग आयोग की अध्यक्ष मती अनिला भेंडिय़ा ने की। वृद्धाश्रम के वरिष्ठ नागरिक  बालकृष्ण कसेर व रतन आचार्य ने कहा कि योगाभ्यास का यह कार्यक्रम उनके लिए बेहद उपयोगी साबित होगा। जिला स्तर पर इस कार्यक्रम में समाज कल्याण विभाग के उपसंचालक बीएम बेक, परिवीक्षा अधिकारी एमके दिवाकर, नवदृष्टि समाजसेवी संस्था के अध्यक्ष मोहम्मद सादिक शेख, समाज कल्याण विभाग के विनोद शुक्ला, बीएल कंवर, शनि साहू, वृद्वाश्रम के केअरटेकर वीरू यादव सम्मिलित हुए।

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने इस अवसर पर कहा कि अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस मनाने के मूल में सभी के स्वास्थ्य की चिंता के साथ ही साथ कोरोना संक्रमण के कारण हो रहे शारीरिक-मानसिक नुकसान की भी चिंता शामिल हो गई है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर ने हम सभी के स्वास्थ्य को बहुत नुकसान पहुंचाया है। जो लोग संक्रमण से बच गए हैं, उन्हें भी मानसिक तनाव का सामना करना पड़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरी लहर पर नियंत्रण पाया जा चुका है, लेकिन तीसरी लहर की आशंका भी सामने है। उस तीसरी लहर का सामना करने के लिए भी हमें शारीरिक और मानसिक रूप में तैयार रहना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना जैसे खतरे को ध्यान में रखकर ही लोगों को मन और शरीर दोनों से मजबूत बनाने का उद्देश्य लेकर छत्तीसगढ़ शासन ने वर्चुअल योगाभ्यास कार्यक्रम शुरु करने का निर्णय लिया है।
शुरू हुए इस वर्चुअल योगाभ्यास एवं योग परामर्श कार्यक्रम के माध्यम से योग की शिक्षा को जन-जन तक पहुंचाया जाएगा। जो लोग कोरोना संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं, जो लोग अब भी होम क्वारंटाइन में हैं, जो लोग टीके का पहला डोज ले चुके हैं, जो लोग बुजुर्ग हैं, जिन लोगों को अपनी सेहत को लेकर चिंता है, जो लोग नशा मुक्त होना चाहते हैं, ऐसे सभी लोग इस वर्चुअल योगाभ्यास कार्यक्रम का लाभ उठा सकते हैं। आज से योग कक्षाएं अनवरत चलती रहेंगी। सोशल मीडिया पर इन कक्षाओं का लाइव प्रसारण होगा, साथ ही इनकी रिकार्डिंग भी उपलब्ध रहेगी।

कोई भी, कभी भी, इन कक्षाओं का लाभ उठा सकता है। जूम एप, गूगल मीट, सिस्को वेब एक्स आदि के माध्यम से इन योग कक्षाओं से लाइव जुड़कर भी इनका लाभ उठाया जा सकता है। छत्तीसगढ़ में रहने वाले लोग तो इन कार्यक्रमों का लाभ ले ही सकेंगे, छत्तीसगढ़ से बाहर रहने वाले लोग भी फेसबुक, ट्विटर जैसे सोशल प्लेटफार्मो के माध्यम से इसका लाभ ले सकेंगे। उन्होंने इस कार्यक्रम को शुरू करने के लिए समाज कल्याण विभाग और छत्तीसगढ़ योग आयोग को बधाई भी दी।

कोरबा जिले में वेबीनार भी हुआ, धूम्रपान निषेध के लिए जनचेतना बढ़ाना जरूरी - अंतर्राष्ट्रीय धूम्रपान निषेध दिवस पर कोरबा जिले में विभिन्न समाज सेवियों, खेल प्रशिक्षकों, खिलाडिय़ों और अधिकारियों ने बड़ा वेबीनार भी आयोजित किया। इस वेबीनार में सभी वक्ताओं ने धूम्रपान से होने वाले नुकसानों से लोगों को अवगत कराते हुए सचेत किया। तम्बाकू या तम्बाकू से बने उत्पादों के सेवन से होने वाली बीमारियों और व्याधियों के संबंध में भी विस्तृत जानकारी दी गई।

सभी वक्ताओं ने वेबीनार के माध्यम से धूम्रपान निषेध और तम्बाकू के किसी भी रूप में सेवन को रोकने के लिए जनचेतना बढ़ाने पर जोर दिया। वेबीनार में अंतर्राष्ट्रीय किक बॉक्सींग खिलाड़ी अजीत शर्मा, रेफ्री पूजा पांडे सहित जिला ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक शर्मा, सचिव डी. सुरेश क्रिस्टोफर, आयुष चिकित्सक डॉ. संतोष रात्रे सहित कई अधिकारी और वरिष्ठ जन भी शामिल हुए।