breaking news New

Jandhara : डॉक्टर ने काटा नवजात का गला, गलत ऑपरेशन से मां की भी मौत, फर्जी नर्सिंग होम में कांड से बवाल, क्लिनिक संचालक व कर्मी भागे

Jandhara : डॉक्टर ने काटा नवजात का गला, गलत ऑपरेशन से मां की भी मौत, फर्जी नर्सिंग होम में कांड से बवाल, क्लिनिक संचालक व कर्मी भागे

बिहार में कई फर्जी नर्सिंग होम का संचालन किया जा रहा है. आए दिन इन फर्जी नर्सिंग होम से जच्चे और बच्चे की मौत की खबरें आती हैं. ताजा मामला खगड़िया जिले का है जहां गर्भवती महिला के ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर ने पेट में पल रहे नवजात का गला ही काट दिया. गलत ऑपरेशन के कारण जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गयी. वहीं इस घटना के भारी बवाल हुआ. अस्पताल के सारे कर्मी मौके से भाग निकले.

घटना मंगलवार की है. महेशखूंट-सहरसा मुख्य मार्ग पर अवैध ढंग संचालित टाटा इमरजेंसी हॉस्पिटल नामक प्राइवेट क्लिनिक में यह घटना घटी. परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए निजी क्लिनिक में पहुंच कर जमकर बवाल काटा. हंगामा शुरू होते ही निजी क्लिनिक संचालक सहित कर्मी मौके से फरार हो गये. परिजनों शव को सड़क पर खड़ी एंबुलेंस में रखकर एनएच 107 व एनएच 31 को कई घंटे जाम रखा.

सूचना पाकर गोगरी एसडीओ सुभाषचंद्र मंडल व एसडीपीओ पीके झा मौके पर पहुंच कर परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन देकर सड़क जाम हटवाया. उक्त फर्जी नर्सिंग होम को अब सील कर दिया. साथ ही एसडीपीओ ने थाना पुलिस को क्लिनिक संचालक सहित कर्मी पर कानूनी कार्रवाई का आदेश दिया है. इधर, मृतका के पति अमित कुमार के आवेदन पर महेशखूंट थाना में टाटा इमरजेंसी हॉस्पिटल के संचालक सहित कई के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है.

जानकारी के अनुसार पसराहा थाना क्षेत्र के महद्दीपुर निवासी अमित कुमार की पत्नी 22 वर्षीय चांदनी देवी को सोमवार की सुबह सात बजे प्रसव के लिए महेशखूंट के टाटा इमरजेंसी हॉस्पिटल नामक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया था. जहां सिजेरियन कर प्रसव कराने की बात कह कर संचालक ने परिजन से एक लाख रुपये जमा करवा लिया. जिसके बाद मंगलवार को चांदनी देवी का ऑपरेशन किया गया.

इस दौरान पेट में पल रहे नवजात का गला कट गया और उसकी मौत हो गई. जिसके बाद महिला की स्थिति नाजुक हो गई. मामला बिगड़ते देख क्लिनिक संचालक ने उसे बेहतर इलाज के लिए बेगूसराय रेफर कर दिया गया. लेकिन अस्पताल से निकलते ही महेशखूंट पेट्रोल पम्प के समीप महिला ने भी दम तोड़ दिया. मौत की सूचना मिलते ही परिजनों ने अस्पताल परिसर में जमकर बवाल काटा. इस दौरान क्लिनिक संचालक व कर्मी भाग खड़े हुए.