breaking news New

बिलासपुर: ट्यूशन पढऩे के लिए निकले छात्र का अपहरण

बिलासपुर: ट्यूशन पढऩे के लिए निकले छात्र का अपहरण

बिलासपुर। बिलासपुर में मंगलवार को 15 साल के छात्र का अपहरण हो गया है। वह दोपहर करीब 12 बजे ट्यूशन पढऩे के लिए गया था। बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं ने 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी है। फिरौती के लिए कॉल आने पर परिजनों ने पुलिस को सूचना दी है। इसके बाद घर से लेकर ट्यूशन स्थल तक आसपास लगे कैमरे से फुटेज चेक किए जा रहे हैं। बच्चे के पिता एक गरीब किसान है। ऐसे में उनसे इतनी बड़ी फिरौती की रकम को लेकर पुलिस को मामला संदिग्ध लग रहा है।

जानकारी के अनुसार तखतपुर थाना क्षेत्र के रामनगर रोड टिकरीपारा वार्ड क्रमांक 3 में रहने वाले शशिकांत पांडेय मूल रूप से मुंगेली जिले के जरहागांव क्षेत्र के सेमरसल गांव के रहने वाले हैं। शशिकांत का तखतपुर में भी मकान है। वे यहां साल 2012 से परिवार सहित रहते हैं। उनका 15 साल का बेटा हिमालया पांडेय रोज की तरह पाठकपारा में रहने वाले ट्यूशन टीचर अरविंद तिवारी के यहां पढऩे गया था। वह करीब 11 बजे घर से निकला, लेकिन दोपहर तक वहां नहीं पहुंचा था। इस पर ट्यूशन टीचर अरविंद ने हिमालया के नहीं आने की जानकारी उसके पिता शशिकांत को दी। इसके बाद से ही परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। तभी शशिकांत पांडेय के मोबाइल पर फिरौती का कॉल आया। कॉल करने वाले ने बच्चे को छोडऩे के लिए 10 लाख रुपए मांगे। इस पर घबराए शशिकांत ने इसकी सूचना थाने में दी। इसकी जानकारी वरिष्ठ अफसरों को भी दी गई। इसके बाद से स्क्क दीपक झा ने सभी अधिकारियों के साथ ही साइबर सेल की टीम को जांच में लगा दिया है।

बंद मिला मोबाइल नंबर, आपसी दुश्मनी की आशंका

पुलिस अपहरण की इस घटना को लेकर सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। गांव के किसान आदमी के बेटे का अपहरण कर 10 लाख रुपए की फिरौती की मांग करना पुलिस की समझ से परे है। ऐसे में पुलिस शशिकांत पांडेय व उनके जान पहचान वालों की भी जानकारी खंगाल रही है। जिस नंबर से फिरौती की मांग की गई थी। वह नंबर भी बंद हो गया है। ऐसे में पुलिस को तकनीकी जांच में भी कोई खास मदद नहीं मिल पाई है।