breaking news New

ब्रेकिंग : नक्सलियों ने तीन अगुवा महिलाओं को रिहा किया, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी छोड़ा, वेक्सीनेशन के लिए गई कार्यकर्ताओं को कर लिया था अगुवा

ब्रेकिंग : नक्सलियों ने तीन अगुवा महिलाओं को रिहा किया, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी छोड़ा, वेक्सीनेशन के लिए गई कार्यकर्ताओं को कर लिया था अगुवा

जनधारा समाचार
बीजापुर. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में अगवा हुए मितानिन मास्टर ट्रेनर सहित तीन महिलाओं को नक्सलियों ने रिहा कर दिया है। नक्सली मितानिन मास्टर ट्रेनर समेत तीन महिलाओं को रात को 1:00 बजे अपने साथ ले गए थे।


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तीनों को नक्सलियों ने छोड़ दिया है। जो महिलाएं लापता थी उनमें आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पाईको ओयाम, मास्टर ट्रेनर शारदा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुनीता का नाम शामिल है। बताया जा रहा है कि महिलाओं को बांधकर नक्सली अपने साथ ले गए थे। ऐसी खबर है कि नक्सलियों ने तीनों महिलाओं को रिहा कर दिया है। इस संबंध में कलेक्टर ने अंदेशा जताया था कि ग्रामीणों ने नक्सलियों से वैक्सिनेशन को लेकर शिकायत की थी इसलिए उन्हें ले जाया गया था। इस मामले में चर्चा यह भी थी कि मितानिन की टीम वैक्सिनेशन के लिए निकली थीं और अपहरण की खबर महज एक अफवाह थी।

हालांकि अब तक मामले की अधिकृत पुष्टि नहीं हो पाई है। बता दें 3 अप्रैल को सुकमा और बीजापुर के बॉर्डर पर स्थित जोनागुड़ा में फोर्स और नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए सीआरपीएफ जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने 8 अप्रैल को छोड़ दिया है। इस मुठभेड़ में कई जवानों ने अपनी शहादत दी है। सीआरपीएफ जवान राकेश्वर सिंह को 4 मध्यस्थों और 20 गांव के ग्रामीणों की मौजूदगी में नक्सलियों ने छोड़ा था।