breaking news New

देश-प्रदेश में इन दिनों जोर शोर से चल रहा है हड़ताल का दौर

देश-प्रदेश  में इन दिनों जोर शोर से चल रहा है हड़ताल का दौर

के एस  ठाकुर 

राजनांदगांव, 22 जनवरी। छत्तीसगढ़ में  सभी वर्ग के अधिकारी कर्मचारी इन दिनों सरकार से काफी नाराज चल रहे हैं। यही वजह है कि विगत दो-तीन महीनों से प्रदेश में हड़ताल का दौर लगातार चल रहा है। अभी  ग्राम पंचायत के सचिव एवं रोजगार सहायकों का करीबन 1 माह से चला आ रहा अनिश्चितकालीन हड़ताल समाप्त हुआ नहीं है कि रोजगार सहायक अधिकारी कर्मचारियों ने हड़ताल कब बिगुल फूंक दिया है । और आज हड़ताल की श्रृंखला में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका यूनियन भी अपनी 8 सूत्रीय मांगों जिसमें प्रमुख रुप से 45 वे46 वें  श्रम सम्मेलन सम्मेलन के फैसले को देशभर में लागू करना । सेविकाओं एवं सहायिकाओं को न्यूनतम ₹21000 वेतन  देना। 3 से 6 साल के बच्चों को पहले की तरह स्कूल पूर्व शिक्षा  आंगनबाड़ी केंद्र में दिया जाना है ।

आईसीडीएस का किसी प्रकार निजीकरण नहीं किया जाना, आदि मांगों को लेकर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय में दिवसीय धरने पर कलेक्ट्रेट के सामने  बैठे हैं ।इसके पूर्व इनके द्वारा 8 जनवरी को अपनी मांगों को लेकर 1 दिन का धरना  प्रदर्शन किया गया था ।आज इनके द्वारा अपनी मांगों का ज्ञापन जिला प्रशासन के माध्यम से प्रधानमंत्री कार्यालय भारत सरकार के नाम से सौंपा गया । आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका यूनियन का का कहना है कि यदि इनकी मांगे नहीं मानी गई तो आगामी 1 फरवरी को राष्ट्रव्यापी धरना प्रदर्शन  राज्य मुख्यालय में किया जाएगा।