breaking news New

खोखरा में कब्जाधारियों के हौसले बुलंद, नोटिस का नहीं हो रहा कोई असर

खोखरा में कब्जाधारियों के हौसले बुलंद, नोटिस का नहीं हो रहा कोई असर


घास भूमि जमीन की हो रही खरीदी बिक्री,दीगर जिले से आकर कर रहे है कब्जा, प्रशासन का नहीं इनको डर

जांजगीर चाम्पा, 6 फरवरी। जिला मुख्यालय जांजगीर से लगे ग्राम पंचायत खोखरा के धाराशिव मोड़ के पास बेजा कब्जा धड़ल्ले से जारी है , तहसीलदार प्रकाश चंद साहू के द्वारा नोटिस देकर काम बंद करने बेजा कब्जा धारियों को नोटिस दिया गया था, मगर आपको बता दे कि प्रशासन के नोटिस देने के बावजूद यह काम दो दिनों से फिर लगातार जारी है, यह काम और कोई नही बालको की रहने वाली दबंग महिला प्रतिभा द्विवेदी द्वारा धाराशिव मोड़ के पास मेन रोड से लगे घास भूमि जमीन में कब्जा जमा रही है, ऐसा नही है कि उच्चाधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं है। उच्चाधिकारियों को जानकारी होने के बाद खोखरा पटवारी को निर्देशित करते हुए बुधवार को पटवारी मौके पर पहुंचकर मौका मुआयना किया फिर वापस लौट गया। उसके बाद फिर से काम लगातार जारी है,पटवारी को पता चलते ही इसका कोई असर नहीं हुआ। 

उच्चाधिकारियों द्वारा कोई कड़ी कार्रवाई नही करने पर इनके हौसले बुलंद होते जा रहे है वही कार्रवाई को देखते हुए सिर्फ खाना पूर्ति हो रही है,और इसी तरह कब्जाधारी कीमती घास भूमि जमीन पर कब्जा कर औने पौने दामो में बेचकर अपनी जेब भरकर शौक पूरा कर रहे है , वही राजस्व के खजाने में डाका डालने से बेजाकब्जा धारी नही चूक रहे है,इतने में पेट नहीं भर रहा तो और कब्जा करने की तैयारी इनके द्वारा की जा रही है जिसमे वह काम्प्लेक्स सहित दुकान बना रही है ,जिसकी कार्रवाई पूर्व में तहसील के अधिकारियों द्वारा नोटिस देकर की गई थी,जहाँ कुछ दिनो तक काम बंद कर दिया गया था, मगर अब फिर से उस दबंग महिला प्रतिभा द्विवेदी द्वारा दुकान को पूरा बनाने का काम जारी है, जिला प्रशासन का कोई असर नही हो पा रहा है ,आखिर ये किसके सह में घास भूमि जमीन पर कब्जा जमा रही है, आखिर किसकी सहमति से यह कब्जा हो रहा है ये समझ से परे है ,आपको बता दे की कुछ सालो पहले बालको की निवासी महिला प्रतिभा द्विवेदी द्वारा घास भूमि जमीन को दो से ढाई लाख रुपए में खरीदी बिक्री कर मामला रफा दफा कर दिया गया है, जिसकी जानकारी जिला प्रशासन को नहीं है। 

घास भूमि जमीन को खरीदने वाला और कोई नही जांजगीर का रहने वाला निवासी फेकू गढ़वाल है जो प्रतिभा द्विवेदी के दबाव में इस घास भूमि जमीन को ढाई लाख रुपए में सौदा कर उसे लेना पड़ा था, और अब वह महिला धाराशिव मोड़ के पास की कीमती जमीन को कब्जा कर दुकान बनाकर बेचने की फिराक में हैं,ताकि बड़ा सा दुकान बनाकर इसे बेचकर ज्यादा मुनाफा कमाऊ, उसमे से एक और जो महिला आशा जोशी भी उसी घास भूमि जमीन में कुछ सालों पहले कब्जा कर मकान बनाकर दुकान को चखना सेंटर के लिए दो कमरे को किराए में दिया गया है ,प्रशासन की नोटिस मिलने के बावजूद भी इस दबंग महिला आशा जोशी के द्वारा दुकान बनाकर किराए में दे दिया गया है,इन दोनों महिलाओं का यह एक कारनामा नही है इनके कई कारनामे है, जगह जगह कब्जा कर मकान दुकान बनाकर बेचने के फिराक में है,अब देखना यह होगा कि आखिरकार इन कब्जाधारियों के ऊपर कोई कड़ी कार्रवाई होती है या नही और इस घास भूमि जमीन से कब्जा हटा पाते है या नहीं की सिर्फ खाना पूर्ति कर मामले को यही तक सिमटा दिया जाएगा और ऐसे ही दीगर जिले से आकर लोग लगातार करोड़ों की कीमती घास भूमि जमीन पर लोगों का लगातार कब्जा जारी रहेगा वही उच्चाधिकारियों की कड़ी कार्रवाई का असर नही दिखना यह राजस्व को लाखों करोड़ों का बड़ा नुकसान है और कब्जाधारियों का हौसला बुलंद करना है।