breaking news New

खतरनाक रूप ले रही है कोरोना की दूसरी लहर, नयी गाइडलाइंस जारी

खतरनाक रूप ले रही है कोरोना की दूसरी लहर, नयी गाइडलाइंस जारी

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक रूप अख्तियार कर रही है। पिछले एक सप्ताह में सक्रिय मरीजों की संख्या में करीब ढाई गुने का इजाफा हुआ है जबकि इस अवधि में 25 मरीज अकाल मृत्यु का शिकार बने हैं।

सरकार ने कोरोना के खतरे के मद्देनजर नयी गाइडलाइंस जारी की है हालांकि होली और शबे बारात में कोई कड़े प्रतिबंध नहीं लगाये है। लोगों को कोरोना से बचाव की लगातार नसीहत दी जा रही है लेकिन त्योहार के मद्देनजर सड़कों और बाजारों में उमड़ती खतरे के गहराने के संकेत दे रही है वहीं पंचायत चुनाव के ऐलान से ग्रामीण इलाकों में सरगर्मी बढ़ गयी है।

पिछली 20 मार्च को प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 2774 थी जबकि एक दिन में मिले मरीजों की तादाद 442 थी जिसमें लखनऊ में मिले 115 मरीज शामिल थे। इसके बाद हर रोज कोरोना संक्रमितों की संख्या में उत्तरोत्तर इजाफा होता गया और शनिवार को जारी रिपोर्ट में पिछले 24 घंटो के दौरान 1061 नये मरीज पाये गये जिन्हे मिलाकर राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या 6615 हो चुकी है। इस दौरान लखनऊ में कोरोना के 273 नये मामले मिले हैं। पिछले सात दिनों में कोरोना से 25 मरीजों की मौत हो चुकी है जिनमें वरिष्ठ पत्रकार एवं राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति में कार्यकारिणी सदस्य प्रमोद श्रीवास्तव भी शामिल हैं।

चिकित्सा विशेषज्ञ पहले से ही कोरोना की दूसरी लहर के ज्यादा प्रभावी होने की चेतावनी जारी कर चुके हैं हालांकि सरकार ने खतरे को भांपते हुये टीकाकरण की रफ्तार बढ़ा दी है। चिकित्सकों का मानना है कि कोरोना की भयावहता को देखते हुये लोगों को खुद सावधानी बरतनी होगी।

हाेली घर की चाहरदिवारी के भीतर परिवार के सदस्यों के संग खेलें और बाहर जाने से परहेज करें। इस अवधि में भीड़भाड़ वाले स्थानो पर अनावश्यक मत जायें और अपने कार्यक्षेत्र में मास्क उतारने की गलती न करें। हर दस मिनट में हाथों को पानी से धोते रहे और सेनेटाइजर का प्रयोग करें।

पिछले 24 घंटे में प्रयागराज और सहारनपुर में 46-46,वाराणसी में 43,गोरखपुर और नोएडा मेे 41-41 नये मरीज मिले है वहीं कानपुर में 39,मेरठ में 37,बरेली में 33 और गाजियाबाद में 32 नये मामले प्रकाश में आये है। इस अवधि में लखनऊ में तीन मरीजों की मौत हो गयी जबकि प्रयागराज में एक मरीज ने जानलेवा वायरस की चपेट में आकर दम तोड़ दिया। लखनऊ में फिलहाल 1856 मरीजों का उपचार किया जा रहा है।