कोरोना.काल : 97 डॉक्टर्स को पीपीई किट देने दानदाता आगे आए, महावीर इंटरकाॅटिनेन्टल सर्विस आर्गेनाइजेशन की पहल, 233 गरीबों को राशन किट तथा 97 डॉक्टर्स को पीपीई किट बांटी

कोरोना.काल : 97 डॉक्टर्स को पीपीई किट देने दानदाता आगे आए, महावीर इंटरकाॅटिनेन्टल सर्विस आर्गेनाइजेशन की पहल, 233 गरीबों को राशन किट तथा 97 डॉक्टर्स को पीपीई किट बांटी
रायपुर. महावीर इंटरकाॅटिनेन्टल सर्विस आर्गेनाइजेशन की रायपुर शाखा ने स्वास्थ्य विभाग के जांबाज चिकित्सकों, नर्सेज एवं पेरामेडिकल स्टाफ की सुरक्षा तथा रोग की रोकथाम हेतु 100 नग पीपीई किट नि:शुल्क प्रदान की गई है.


संस्था के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष लोकेश कावड़िया ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए डॉक्टरों को अति आवश्यक सुरक्षा कवच की जरूरत पड़ती है इसलिए संस्था ने इस महादान का निश्चय लिया. पहली खेप में डॉ श्रीमती मीरा बघेल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर, को 100 नग पीपीई किट नि:शुल्क सुपुर्द की गईं.

डॉ. मीरा बघेल ने कहां कि आज हमारे पास पैसा है लेकिन सामान नहीं. ऐसी विषम परिस्थिति में संस्था ने हमें ये सामान पीपीई किट देकर कोराना महामारी से बचाव हेतु जरुरी व्यवस्था के साथ संबल प्रदान किया है. उन्होंने इस नेक कार्य हेतु संस्था को धन्यवाद ज्ञापित किया.

दूसरी तरफ संस्था की ओर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र साजा के डॉक्टर अश्विनी कुमार को 03 पीपीई किट प्रदान की गई, वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गंडई में 03 पीपीई किट तथा जिला अस्पताल बेमेतरा को 04 पीपीई किट प्रदान की गई.

श्री कावड़िया ने बताया कि पीपीई किट के अलावा संस्था पूरे प्रदेश में गरीबों के लिए सूखा राशन के पैकेट भी दान कर रही है. अब तक राशन सामग्री किट 233 गरीबों को बांटी गई है जबकि पीपीई किट 97 डॉक्टरों के लिए दी गई हैं. अभी यह क्रम जारी रहेगा.

ये रहे प्रमुख दानदाता..

श्री कावड़िया ने बताया कि महावीर इंटरकाॅटिनेन्टल सर्विस आर्गेनाइजेशन, दानदाताओं के सहयोग से पीपीई किट तैयार कर चिकित्सकों, नर्सेज एवं पेरामेडिकल स्टाफ की मदद कर रहा है. दान देने वालों में डाॅ.महेंद्र ठाकुर, नरेन्द्र जैन, लोकेश कावड़िया, संपत जी झाबक, संजय गिड़िया, राजेंद्र सेठिया, मोती चंद जैन, ए.विश्वनाथन, अशोक जैन (बुरड़, राजेन्द्र सेठीया, संजय गिड़िया, विजय गोयल, मोती चंद जैन बरडिया, कमल चंद बैद, राजेश लूनिया, अशोक जैन, जयंत भाई टांक, नथमल कोठारी, रमेश कोठारी, पुखराज पुणोत, मुकेश शाह, संगीता जैन व अनिल द्विवेदी शामिल हैं जिन्होंने अपनी इच्छाशक्ति से पीर्पी किट प्रदान की है. इसके अलावा 11 किट गुप्तदान की गई हैं.