breaking news New

आंगनबाड़ी केंद्रों को रंगोली, गुब्बारों और फुलों से सजाकर दिया सुपोषण का संदेश

आंगनबाड़ी केंद्रों को रंगोली, गुब्बारों और फुलों से सजाकर दिया सुपोषण का संदेश

 गर्भवती महिलाओं को हरी सब्जियों व प्रोटीनयुक्त भोजन करने किया प्रेरित, छुरिया और डोंगरगढ़ विकासखंड के गांवों में धूमधाम से मनाया गया वजन त्यौहार
राजनांदगांव। जिले के छुरिया विकासखंड के आंगनवाड़ी केंद्रों को रंगोलीए गुब्बारों और फूलों से सजाकर खुशनुमा वातावरण में वजन त्यौहार मनाया गया। इस अवसर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व मितानिन ने वजन त्यौहार में पहुंचे बच्चों का तिलक लगाकर और आरती उतारकर स्वागत किया। वहीं प्रेरक पोस्टर तथा सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से प्रचार-प्रसार करते हुए ग्रामीणों को सुपोषण के प्रति जागरुक करने का प्रयास किया गया।
वजन त्यौहार के अंतर्गत ग्राम पंचायत तथा उनके आश्रित ग्राम झिथराटोला, बनियाटोला, बरछाटोला, हालेकोसा, मगरधोघरा, रीवाटोला, जरहामहका, पुर्रामटोला, बरेठटोला, दीवानटोला, घुसपाल, लाममेटा, गोपालपुर, बजरंगपुर, पैरीटोला, पेंड्रीडीह व भेजराटोला सहित कई गांवों में सुपोषण जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान शून्य से पांच वर्ष तक बच्चों का वजन लेने के बाद उन्हें टॉफी बांटी गई। साथ ही 11 से 18 वर्ष की किशोरियों में एनीमिया जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से हिमोग्लोबिन टेस्ट किया गया। वजन करने पर स्वस्थ-सुपोषित पाए गए बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न प्रतियोगिता के माध्यम से नवाचार भी किया गया। बच्चों के वजन पश्चात उचित खान-पान के माध्यम से कुपोषण को दूर करने के लिए आंगनवाड़ी केंद्रों में यह पूरी प्रक्रिया अपनाई गई। इसी तरह डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम अछोली में क्रमांक 1 से 4 तक के आंगनबाड़ी केंद्र में महिला एवं बाल विकास विभाग डोंगरगढ़ सेक्टर की प्रभारी सुपरवाइजर रेखा नेताम की अगुवाई में वजन त्यौहार मनाया गया। इस दौरान शून्य से पांच वर्ष तक के हितग्राही बच्चों का तिलक लगाकर कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इसके पश्चात बच्चों का वजन तौला गया तथा उनकी लंबाई का भी मूल्यांकन किया गया, जिसमें पता लगा, आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 2 और 3 के बच्चे सोनाक्षी साहू (परिवर्तित नाम), रूद्र साहू (परिवर्तित नाम) एवं वेदांत (परिवर्तित नाम) जन्म के समय तो कुपोषित थे, लेकिन अब वह तीनों सुपोषित हैं।
इस संबंध में महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी रेणु प्रकाश ने बताया, महिला एवं बाल विकास विभाग अंतर्गत छुरिया परियोजना के सभी 199 आंगनवाड़ी केंद्रों में वजन त्यौहार धूमधाम से मनाया गया। वजन त्यौहार को सार्थक करने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों व अभिभावकों को प्रमुखता से शामिल गया। वहीं पोषण एवं रेडी-टू-इट व्यंजनों की प्रदर्शनी लगाकर जनसामान्य को पौष्टिक आहार ग्रहण करने के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया गया।

पौष्टिक खाद्य सामग्रियों का लुभावना स्टाल लगाया
 प्रभारी सुपरवाइजर रेखा नेताम ने बताया, वजन त्यौहार में बच्चों के माता-पिता को बच्चों में सुपोषण के प्रति जागरुक करने का गंभीरतापूर्वक प्रयास किया गया। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं ने विभिन्न प्रकार के व्यंजन जैसे-ठेठरी, खुरमी, लड्डू, भुजिया, गुझिया, हलुआ, सोयाबीन बड़ी, गुड़-चना, अंकुरित मूंग, कुम्हड़ा भाजी, चेच भाजी, चरोटा भाजी, पालक भाजी, पपीता, केला, खीरा, जाम व नींबू आदि का लुभावना स्टाल लगाया। वहीं लाभार्थियों-पालकों को उक्त चीजों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करने की सलाह दी गई, ताकि शिशु जन्म से ही कुपोषण से मुक्त यानी स्वस्थ रहे। गर्भवती महिलाओं को भी हरी सब्जियों एवं प्रोटीनयुक्त भोजन ग्रहण करने के लिए प्रेरित किया गया।