लॉकडाउन के दौरान जनता के लिए बनाई गई व्यवस्थाओं का जायजा लेने सड़क पर उतरे सीएम बघेल

लॉकडाउन के दौरान जनता के लिए बनाई गई व्यवस्थाओं का जायजा लेने सड़क पर उतरे सीएम बघेल


रायपुर , 30 मार्च | प्रदेश भर में परेशान जनता के लिए प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराई जा रही वस्तुओं सहित सभी कंट्रोल सेंटरों के हकीकत में क्या हालत हैं, उसकी जानकारी लेने के लिए राज्य के मुखिया भूपेश बघेल खुद ही सड़क पर उतर गए हैं लाकडाउन के दौरान प्रशासन द्वारा आवश्यक वस्तुओं, खाद्यान्न एवं सब्जियों की उचित मूल्य की उपलब्धता का प्रबंधन किया गया है। इसके बावजूद के तरह की असुविधाएं होने की शिकायतें सामने आरही थी। जिसके बाद स्थिति का जायजा लेने मुख्यमंत्री स्वयं राजधानी रायपुर की सड़कों पर निकल पड़े।

 CM बघेल सबसे पहले रावणभाटा स्थित अन्तर्राज्यीय बस स्टैंड के पास सब्जी विक्रेताओं एवं खरीददारों के वास पहुचे और उनसे अकेले में बातचीत कर सब्जी के दाम एवं विक्रय की जानकारी लेते दिखे। जब उन्हें वह पर सब कुछ ठीक लगा तब उसके बाद CM बूढा तालाब के पास इंडोर स्टेडियम में जरूरतमंद, बेसहारा और असहाय लोगों के लिए बनाये गए खाद्यान्न आपूर्ति कंट्रोल रूम और आपात कालीन फूड सप्लाई सेल को देखने पहुच गए।

मौके पर पहुचे बघेल ने एक एक चीज का जायजा लिया, पूरी जानकारी ली और जब प्यूरी तरह से संतुष्ट होने पर प्रशासन द्वारा बनाई गई व्यवस्था की खूब सराहना भी की। बतादे की इनडोर स्टेडियम परिसर में फूड सप्लाई सेल बनाया गया है, जिसे स्वयं सेवी संस्थाओं और संगठनों की मदद से 24 घंटे चलाया जा रहा है। यह ओर जरूरी सामग्रियों के साथ ही भोजन भी बनाया जा रहा है जिसे जरूरतमंद लोगो में बाटा जा रहा है। इस व्यवस्था में करीब 140 स्वयं सेवी संगठन और करीब 5 हजार वालेंटियर्स लगे हुए है।

सब्जी विक्रेताओं ने बताया कि साइंस कॉलेज मैदान में थोक मार्केट लगा है वहां से सब्जियां लाकर बेचते हैं । मंडी में आलू प्याज करीब 30 रूपये किलो है और सब्जियों के दाम भी कम हो गए हैं।उल्लेखनीय है कि रायपुर के टिकरापारा, संतोषी नगर , नंदी चौक और भांटा गांव के अव्यवस्थित तथा भीड-भाड वाले बाजारो को बंद के नया अंतर्राज्यीय बस स्टैंड परिसर सहित इन सभी जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कर बाजार लगाया जा रहा हैं।

ये सारा प्रबंधन जिला प्रशासन की देखरेख में किया जा रहा है। हमने रायपुर में प्रदेश के दूसरे इलाकों के रह रहे मजदूर भाइयों के साथ ही पूरी जनता के लिए ये नई व्यवस्था बनाई है, ऐसी ही व्यवस्था प्रदेश के सभी शहरों कस्बों में बनाई जा रही है। किसी को भी खाने पीने की कोई कमी नही होने देंगे। इसके साथ दूसरे राज्यों में हमारे यहां के जो लोग फसे हुए हैं उन सबके लिए भी व्यवस्था बनाई जा रही है। हमने नोडल अधिकारी नियुक्त किये हैं, उनका नम्बर भी जारी किया है, आप सीधे बात कर अपनी परेशानी बताएं समाधान तुरन्त होगा।