breaking news New

कोरोना संक्रमित उत्तर प्रदेश की शिक्षा मंत्री कमल रानी का निधन

 कोरोना संक्रमित उत्तर प्रदेश की शिक्षा मंत्री  कमल रानी का निधन

लखनऊ।  कोरोना संक्रमित उत्तर प्रदेश की शिक्षा मंत्री कमल रानी वरुण का रविवार को यहां संजय गांधी स्नानाकोत्तर आर्युविज्ञान संस्थान में निधन हो गया। वह 62 वर्ष की थी।

कानपुर नगर के घाटमपुर क्षेत्र की विधायक  वरूण ने बुखार और सांस लेने में तकलीफ के चलते 17 जुलाई को अपना सैंपल सिविल अस्पताल में दिया था जिसकी रिपोर्ट में वह कोरोना संक्रमित पायी गयी थी। जिसके बाद 18 जुलाई को उन्हे एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया था। आज सुबह नौ बजे उन्होने अंतिम सांस ली।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मंत्री के निधन के कारण उन्होने आज प्रस्तावित अयोध्या दौरा स्थगित कर दिया है। श्रीमती वरूण का अंतिम संस्कार उनके गृहनगर कानपुर में कोविड प्रोटोकाल के तहत किया जायेगा।

एसजीपीजीआइ के मुख्य चिकित्साधीक्षक डा अमित अग्रवाल ने बताया कि बुखार और सांस लेने में तकलीफ के कारण श्रीमती वरूण का कोरोना टेस्ट किया गया था और रिपोर्ट पाजीटिव आने पर 18 जुलाई को उन्हे भर्ती किया गया था। मरीज को निमोनिया हो गया था जिसके कारण वह एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिंड्रोम में चली गई थी। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना के लिए निर्धारित रेमडेसिविर समेत अन्य निर्धारित दवाएं उन्हें लगातार दी जा रही थी, लेकिन सुधार नहीं हो रहा था।

उन्होने बताया कि मंत्री पहले से ही मधुमेह,हाइपरटेंशन और थायराइड से ग्रसित थी। उनका ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो गया था। हालांकि, शुरुआत के 10 दिनों में उनकी तबीयत स्थिर रही, लेकिन पिछले तीन दिनों से अचानक स्थिति खराब होने लगी। शनिवार शाम तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद उन्हें बड़े वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया। रविवार को सुबह नौ बजे उन्होने अंतिम सांस ली।