breaking news New

खुलासा : कांग्रेस विधायक पर गंभीर आरोप..भाजपा नेता गौरी शंकर श्रीवास का दावा..'राजधानी अस्पताल में कांग्रेस विधायक की मालिकाना हिस्सेदारी इसलिए अस्पताल को मिली इलाज की अनुमति! आग लगने से छह मरीजों की मौत हुई थी अस्पताल में!

खुलासा : कांग्रेस विधायक पर गंभीर आरोप..भाजपा नेता गौरी शंकर श्रीवास का दावा..'राजधानी अस्पताल में कांग्रेस विधायक की मालिकाना हिस्सेदारी इसलिए अस्पताल को मिली इलाज की अनुमति! आग लगने से छह मरीजों की मौत हुई थी अस्पताल में!

जनधारा समाचार
रायपुर. पचपेढ़ीनाका स्थित राजधानी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को इलाज करने की अनुमति देने का मामला सुर्खियों में है. सरकार ने कुछ दिन जांच करने के बाद अब इस ​अस्पताल को संचालित करने की अनुमति दे दी है. जानते चलें कि चंद दिनों पहले इसी अस्पताल में आगजनी से छह मरीजों की मौत हो गई थी जिनमें से एक कई कोरोना पीड़ित भी थे.

इस पर सवाल खड़ा करते हुए भाजपा किसान नेता गौरी शंकर श्रीवास ने आज एक सनसनीखेज वीडियो जारी ​करते हुए दावा किया कि राजधानी अस्पताल में आग लगने से चंद दिनों पहले छह मरीजों की मौत हो गई थी. इस अस्पताल की अभी जांच भी पूरी नही हो सकी लेकिन उसे इलाज के लिए मान्यता दे दी गई क्योंकि इसमें कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल, मालिकाना हिस्सेदार हैं इसलिए सरकार ने दबाव में आकर अस्पताल को लगभग क्लीन चिट दे दी है और इलाज करने की अनुमति भी दी है.



श्रीवास ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि कोरोना इलाज के नाम से छत्तीसगढ़ में लूट का गोरखधंधा तेजी से फलफूल रहा है. सरकार ऐसे अस्पतालों में कार्यवाही का हौसला नही जुटा पाती जैसे कि राजधानी अस्पताल. मनेन्द्रगढ़ के विधायक विनय जायसवाल की इस अस्पताल में हिस्सेदारी रही है. वे इस अस्पताल से जुड़े रहे हैं इसलिए सरकार ने उनके दबाव में आकर अस्पताल को इलाज की पुन: अनुमति दे दी है. यह उन परिवारों को मुंह चिढ़ाने जैसा है जिनके परिजनों ने अपने लोगों को आगजनी में खो दिया था. यह बहुत ही निंदनीय है और भाजपा इसकी निंदा करती है.

जानते चलें कि चंद दिनों पहले ही रायपुर के पचपेढ़ी नाका के पास रिंग रोड स्थित राजधानी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में आग लगने से छह कोरोना मरीजों की मौत हो गई थी जिसकी जांच फोरेसिंक और फायर सेफ्टी विभाग की टीम कर रही थी. दोनों जांच एजेंसी एक हफ्ते के भीतर अपनी रिपोर्ट प्रशासन को पेश करने वाली थी लेकिन अभी तक जांच रिपोर्ट नही दी गई है. इसके बावजूद राजधानी अस्पताल को इलाज जारी रखने की अनु​मति दे दी गई क्योंकि उसे मनेन्द्रगढ़ से कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल का वरदहस्त प्राप्त है.