breaking news New

तांदुला जलाशय से बेमेतरा क्षेत्र में नहर से तत्काल पानी छोड़ने अधीक्षण अभियंता को जिपं सभापति ने लिखा पत्र......

तांदुला जलाशय से बेमेतरा क्षेत्र में नहर से तत्काल पानी छोड़ने अधीक्षण अभियंता को जिपं सभापति ने लिखा पत्र......



बेमेतरा  पशु-पक्षियों हेतु, तालाबों को भरने व जलस्तर लेबल करने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है नहर पानी की...*

बेमेतरा !  गर्मी का मौसम आते ही जल स्तर गिरना चालू हो गया है। बेमेतरा जिला के लगभग सभी गॉवो का जल स्तर गिर रहा है। जिससे ग्रामीणों के सामने पाइन की पानी सहित सावकासी समस्या उत्पन्न हो रहा है। पानी की समस्या को दूर करने के लिए प्रदेश भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी व जिला पंचायत सभापति राहुल योगराज टिकरिहा ने समीर जार्ज अधीक्षण अभियंता शिवनाथ मंडल दुर्ग को पत्र लिखकर तांदुला जलाशय के माध्यम से बेमेतरा क्षेत्र में नहर पानी आपूर्ती हेतु आग्रह कियाहै।



सभापति टिकरिहा ने पत्र में लिखा है कि। गर्मी के बढ़ने से अब गांव का जलस्तर कम हो रहा है। जिससे बेमेतरा जिला के अधिकांश गॉंवों में पीने के लिए पानी की समस्या, नहाने व कपड़े धोने के लिए तालाबों में पानी की समस्या हो रही है। बेमेतरा जिला में भू-जल स्तर भी तेजी से गिर रहा है। यह गिरता हुआ जल स्तर पानी के भयावह संकट को प्रदर्शित कर रहा है। पानी की समस्या होने से ग्रामीणों के साथ-साथ पशु-पक्षियों को भी भारी समस्या होने लगी है,जिससे पशु पक्षियों के मरने की नौबत आने लगी है।

महोदय जी बेमेतरा क्षेत्र के अधिकांश गांव तांदुला के नहर विस्तार से जुड़े हुए है। क्षेत्र के वर्तमान दृश्य को देखते हुए भविष्य में जल संकट की परिस्थिति साफ दिखाई दे रही है। अतः आपसे आग्रह है कि जल संकट को दूर करने के लिए तांदुला जलाशय से पानी छोड़ने की कृपा करें।

सभापति टिकरिहा ने निवेदन करते हुए आगे लिखा है कि जनहित को ध्यान में रखते हुए तांदुला जलाशय से शीघ्र पानी छोड़ने की कृपा करें। जिले के अधिकांश गाँव में भूजलस्तर नीचे जाने से हो रही है पानी की समस्या

बेमेतरा जिला के अधिकांश गांव में निस्तारी व पिने हेतु पानी की समस्या हो रही है। जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रहा है वैसे-वैसे जल स्तर में गिरावट आ रहा है। जिलें में धीरे-धीरे गॉवो की संख्या में भी वृद्धि होगी। इस समस्या से निपटने के लिए पहले से तैयार रहना जरूरी है।

बहुत से तालाब सुख चुके, बाकी सूखने के कगार पर...

सभापति ने ग्राम सरदा व अछोली के तालाबों की तस्वीर जारी कर बताया कि यहाँ तालाब सुख चुके है अब निस्तारी के लिए भी संकट की स्थिति से निपटने में नहर का पानी ही विकल्प है।

बेमेतरा जिला के इन गॉवो में हो रही है पानी की समस्या...



कोहड़िया, गुधेली, उफरा, बोरसी, खंगारपाट, बोहारडीह, गाड़ामोङ, सिलघट, पिरदा, भिंभौरी, हरदी, नेवनारा, हसदा, देवादा, बारगांव, पाहन्दा, तेलगा, आनंदगाँव, सुरहुली, कुसमी, खर्रा, सांकरा, तिलई, करेली, बहेरा, बांसा, बेरला नगर पंचायत, सिलघट (पटरा) करामाल, खुडमुडा, अकोली, हसदा, कुम्हि, अछोली, जमघट, देवरी, खाल्हे देवरी, जामगांव, सरदा, भटगांव, आँदु,  सिंगदेही, सोंड, सोरला, तारालिम, लेंजवारा, सूरजपुरा, भिलौरी, टंकसींवा, भालेसर, लाटा, गब्दा, कोटा, देवसरा, खुडमुडी, ढाबा,आदि।