breaking news New

राष्ट्रीय किताब मेला और छत्तीसगढ़ साहित्य महोत्सव 13 से 21 मार्च तक

राष्ट्रीय किताब मेला और छत्तीसगढ़ साहित्य महोत्सव 13 से 21 मार्च तक

जनधारा समाचार

रायपुर। गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी राष्ट्रीय किताब मेला और छत्तीसगढ़ साहित्य महोत्सव 13 से 21 मार्च तक रायपुर में आयोजित किया जायेगा। इस बार के मेले की थीम छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति, वाद्ययंत्र रहेगी। इस मेले में छत्तीसगढ़ के पांचों संभाग की साहित्यिक सांस्कृतिक गतिविधियों, युवा लेखक, कवि और कलाकारों को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए अलग-अलग दिन संभागवार गतिविधियां होंगी। किताब मेला और साहित्य महोत्सव के आयोजन को लेकर आज रायपुर के होटल महेन्द्रा में बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में डॉ. चितरंजन कर, गिरीश पंकज, डॉ. सुधीर शर्मा, जया जादवानी, समीर दीवान, समीना खान, संगीता मिश्रा, त्रियंम्बक शर्मा, आभा शर्मा, अभिषेक सिंह, सुनीता चंसोरिया सहित बड़ी संख्या में साहित्यकार, संस्कृति कर्मी उपस्थित थे। बैठक के प्रारंभ में आयोजन समिति की ओर से नागेन्द्र दुबे ने मेला आयोजन से जुड़ी जानकारी दी।

बैठक का संचालन करते हुए सुभाष मिश्र ने बताया कि इस साल मेले में छत्तीसगढ़ के गत वर्ष की भांति देशभर के पुस्तक प्रकाशक और प्रतिष्ठित साहित्यकारों को आमंत्रित किया गया है। मेले में अलग-अलग विषयों पर साहित्यिक विमर्श और गोष्ठियां की जाएंगी। छत्तीसगढ़ का साहित्य महोत्सव जयपुर साहित्य महोत्सव की तरह अपनी पहचान बना सके, इसके लिए आयोजन को भव्य रूप दिया जाएगा। इस आयोजन पर गत वर्ष किए गए खर्च का ब्यौरा देते हुए यह भी बताया गया कि इस वर्ष गत वर्ष की भांति अलग-अलग संस्था और सरकार से आर्थिक सहयोग मांगा जाएगा। आयोजन पर होने वाले व्यय और गतिविधियों में पारदर्शिता रहे इसके लिए समिति के सदस्यों को समय-समय पर सारी जानकारी दी जाएगी। महोत्सव में पुस्तक चर्चा, गंभीर साहित्यिक विमर्श, सामयिक विमर्श, कविता पाठ के साथ नाट्य मंचन भी किया जाएगा। युवक साहित्यकारों को प्रोत्साहित करने के लिए कांपिटिशन के जरिए उनका चयन कर उनको पुरस्कृत किया जाएगा। पुस्तक चर्चा और विमोचन के लिए एक लेखक कार्नर बनाया जाएगा।

आयोजन के लिए एक कोर कमेटी गठित की गई है जिसमें नागेंद्र दुबे, सुभाष मिश्र, सुधीर शर्मा, सत्यप्रकाश सिंग, गिरीश पंकज, जया जादवानी, त्रियंम्बक शर्मा, शमिना खान, संगीता मिश्रा, अभिषेक सिंह को शामिल किया गया है। इसके अलावा पूरे आयोजन के लिए आयोजन समिति बनाने का निर्णय लिया गया है। जिसमें छत्तीसगढ़ के अलग-अलग अंचल के लोगों को समाहित किया जाएगा। साहित्य महोत्सव में गत वर्ष की भांति युवाओं को मंच देने के उद्देश्य से युवा पंडाल बनाया जाएगा। साहित्य महोत्सव में आमंत्रित साहित्यकारों को मानदेय और यात्रा वे दिए जाने का निर्णय लिया गया है। किताब मेला और साहित्य महोत्सव में खानपान की असुविधा न हो इसके लिए एक फूड पंडाल भी बनाया जाएगा। बैठक में आमंत्रित किए जाने वाले साहित्यकारों के नाम पर भी प्रारंभिक चर्चा हुई। छत्तीसगढ़ से आमंत्रित किए जाने वाले साहित्यकार और विषय निर्धारण के लिए गिरीश पंकज, सुधीर शर्मा, जया जादवानी और समीर दीवान को जिम्मेदारी दी गई।  

राष्ट्रीय स्तर से जिन साहित्यकारों, पत्रकारों, सिनेमा और नाटकों से जुड़े कलाकारों को बुलाया जाना है इसके लिए भी विस्तार से चर्चा की गई। किताब मेले में साहित्यिक चर्चा के लिए शाम 5 बजे से रात 10 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है।