breaking news New

ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ से एक और ट्रेन चली, भारतीय रेलवे ने इन रूटों पर शुरू की नई ट्रेनें, मिलेगा कंफर्म टिकट

ब्रेकिंग : छत्तीसगढ़ से एक और ट्रेन चली, भारतीय रेलवे ने इन रूटों पर शुरू की नई ट्रेनें, मिलेगा कंफर्म टिकट

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के बीच भारतीय रेलवे ने रेल यात्रियों को नए साल पर बड़ी राहत दी है। भारतीय रेलवे ने जम्मूतवी और उधमपुर के लिए नई ट्रेनों का संचालन शुरू किया है। यानि अब आपको इस रूट पर जाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। इन ट्रेनों के संचालन से सबसे अधिक फायदा पटना, दुर्ग, वाराणसी, अजमेर और नई दिल्ली के यात्रियों को होगा। कोरोना काल में जब रेलवे ने कई ट्रेनें रद्द कर दी हैं, ऐसे में ये ट्रेन लोगों को बड़ी राहत देने वाली साबित होगी।

जानिए ट्रेनों का टाइम टेबल

रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, पठानकोट कैंट स्टेशन इन ट्रेनों का स्टॉपेज होगा। दुर्ग से जम्मूतवी (ट्रेन संख्या- 08215/16) जाने वाली ट्रेन हर गुरुवार को शाम 3.50 बजे पठानकोट कैंट पहुंचेगी। इसके बाद अगले दिन रात 2:40 बजे पठानकोट कैंट स्टेशन से रवाना होकर दुर्ग पके लिए चलेगी।

जानिए अर्चना सुपरफास्ट ट्रेन का टाइम टेबल

इसके अलावा पटना से जम्मूतवी के बीच चलाई गई अर्चना सुपरफास्ट (02355/02356) ट्रेन हर रविवार और बुधवार सुबह 8:55 बजे पठानकोट कैंट स्टेशन पहुंचेगी। उसी दिन शाम को 7.20 बजे ये ट्रेन पठानकोट कैंट स्टेशन से राजिंदर नगर को रवाना होगी।

31 जनवरी तक रोजाना चलेगी ये ट्रेन

31 जनवरी तक यानी इस पूरे महीने वाराणसी से जम्मूतवी जाने वाली ट्रेन (02237/02238) हर रोज चलेगी। यह ट्रेन सुबह 9.05 बजे पठानकोट कैंट स्टेशन पहुंचेगी। कैंट से वापसी उसी दिन तय की गई है जो कि शाम 3 बजकर 40 मिनट पर वाराणसी के लिए रवाना होगी।

इसके अलावा रेलवे ने श्री शक्ति ट्रेन (02461/62) का संचालन नई दिल्ली से कटरा के लिए शुरू कर दिया है। यह ट्रेन दिल्ली से चलेगी और रात 12.30 बजे पठानकोट कैंट स्टेशन पहुंचेगी। वापसी पर ट्रेन रात 2 बजकर 15 मिनट पर दिल्ली के लिए वापस रवाना होगी।

इन ट्रेनों के अलावा रेलवे ने अजमेर से जम्मूतवी को जाने वाली ट्रेन (02421/22) हर रोज चलाई जाएगी। ये ट्रेनें हर रोज सुबह सुबह 6 बजे कैंट स्टेशन पहुंचेगी और उसी दिन रात को 8 बजे अजमेर के लिए निकल जाएगी। गौरतलब है कि, इस ट्रेन के शेड्यूल को सिर्फ 1 फरवरी तक ही तय किया गया है। अगर रेलवे को जरूरी लगेगा तो हो सकता है कि इस ट्रेन को आगे भी चलाया जाना जारी रखा जाए।