भारत पर निर्भर है कोविड-19 का भविष्य, स्मॉल पॉक्स, पोलियो मिटाने में कर चुका है विश्व का नेतृत्व- डब्ल्यूएचओ

भारत पर निर्भर है कोविड-19 का भविष्य, स्मॉल पॉक्स, पोलियो मिटाने में कर चुका है विश्व का नेतृत्व- डब्ल्यूएचओ

नई दिल्ली, 24 मार्च। कोरोनावायरस की मौजूदा स्थिति को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन के निदेशक डॉ माइकल जे राइन ने भारत द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की है. माइकल जे राइन ने कहा, ‘चीन की तरह ही भारत बड़ी आबादी वाला देश है. ऐसे में इस महामारी का भविष्य उन देशों पर है जहां बड़ी संख्या में लोग रहते हैं. यह बहुत महत्वपूर्ण है कि भारत सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं और सामाजिक स्तर पर कड़े कदम उठाए जिससे इस बिमारी के फैलाव पर रोक लगे और लोगों की जान बचे.’

उन्होंने कहा कि भारत ने दो साइलेंट किलर्स- स्मॉल पॉक्स और पोलियो को मिटाने में विश्व का नेतृत्व किया है. ये दुनिया के लिए भारत का तोहफा है. बता दें कि भारत ने पोलियो उन्मूलन के लिए एक सुनियोजित कार्यक्रम चलाया जिससे इस बिमारी से निपटने में काफी मदद मिली.

उन्होंने कहा कि भारत समेत विश्व के कई देशों के पास सिविल सोसाइटी को एक साथ करने की अपार क्षमता है.विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया में अभी तक कोविड-19 के 334,981 मामले सामने आए हैं. वहीं दुनिया के 190 देशों में 14,652 लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत में कोरोनावायरस के मामलों में तेज़ी से वृद्धि हो रही है. कोविड-19 भारत में अभी दूसरे स्टेज पर है. कहा जा रहा है कि अगर ये तीसरे स्टेज पर पहुंचा जिसे कम्यूनिटी ट्रांसमिशन कहा जाता है तो स्थिति काफी खराब हो सकती है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोनावायरस के मद्देनज़र देश को 24 मार्च रात 8 बजे संबोधित करेंगे. मोदी पिछले एक हफ्ते में दूसरी बार राष्ट्र को संबोधित करेंगे. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण बातें देशवासियों के साथ साझा करूंगा. आज, 24 मार्च रात 8 बजे देश को संबोधित करूंगा.’