आज की रात 9 बजे घरों के रोशनी देने वाले बल्ब ही बंद रखें

आज की रात 9 बजे घरों के रोशनी देने वाले बल्ब ही बंद रखें

 स्ट्रीट लाइट तथा अन्य पब्लिक प्लेस की लाइटें

हमेशा की तरह जलती रहेंगी 

रायपुर, 5 अप्रैल।  कोरोना वायरस जनित वैश्विक महामारी से उपजे भय और निराशा को दूर करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी   विभिन्न उपायों से देशवासियों को प्रेरित प्रोत्साहित कर रहे हैं। 3 अप्रैल को  जारी किए गए अपने संदेश में  उन्होंने  सभी  देशवासियों से 5अप्रेल की रात में 9 बजे घरों की  लाइटें  9 मिनट तक बंद करके अपने घरों की बालकनी में एक दीया, टार्च की रोशनी या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने का आव्हान किया है।  

      रविवार की रात एकदम से एक साथ लाइट बंदी से बिजली की मांग एवं आपूर्ति के मध्य संतुलन  बनाए रखने ,तथा पावर ग्रिड स्टेबिलिटी को बनाए रखने के लिए आज फोरम ऑफ लोड डिस्पेचर्स ने प्रातः 11:30 बजे देशभर के स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर के अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक कर चर्चा की। जिसमें विद्युत प्रणालियों की सुरक्षा एवं सुदृढ़ता को बनाए रखने तथा नेशनल ग्रिड स्टेबिलिटी को मापदंड के अनुरूप स्थिर रखने के संबंध में दिशा निर्देश दिए गए। इस दौरान केवल घरों की लाइटें ही सीमित समय के लिए बंद  करने की अपील की गई है।स्ट्रीट लाईट तथा अन्य पब्लिक प्लेस की लाईटें हमेशा की तरह जलती रहेंगी। ऐसी कॉलोनी या सोसाइटी जहां की विद्युत आपूर्ति का कंट्रोल किसी एक मेन स्विच से होता है उसे बंद करके एक साथ कॉलोनी के सभी घरों की विद्युत आपूर्ति को बंद नहीं करने की समझाइश दी गई है ।पावर कंपनी प्रबंधन ने स्पष्ट किया है कि घरेलू प्रकाश के लिए जलाए जाने वाले बल्ब ट्यूबलाइट को ही बंद रखना है अन्य घरेलू उपकरण जैसे कि फ्रिज, कूलर, एसी, टीवी, ओवन, वाशिंग मशीन आदि का उपयोग सामान्य दिनों की तरह करते रहें।

 छत्तीसगढ़ स्टेट पावर   जनरेशन, ट्रांसमिशन, एवं डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के अधिकारियों कर्मचारियों को सजगता बरतने के निर्देश कंपनी प्रबंधन की ओर से दिए गए हैं। इस दौरान एक एक पल की मॉनिटरिंग उच्चाधिकारियों द्वारा की जाएगी। साथ ही विभिन्न राज्यों के लोड डिस्पैच सेंटर आपस कोऑर्डिनेशन बनाए रखेंगे।एक साथ बिजली बंद रखने पर छत्तीसगढ़ में एक आकलन के मुताबिक 300 मेगावाट विद्युत मांग में गिरावट आने की संभावना  ब्यक्त की गई है ।

      ऐसी घड़ी में पावर सेक्टर के एक्सपर्ट्स इंजीनियर्स ने सुझाव दिए  है  कि उपभोक्तागण  अपने अपने घरों की केवल लाइटें ही बंद करें, पावर सेक्टर के एक्सपर्ट्स टीम का कहना है कि  प्रधानमंत्री के संदेशों का पालन स्वेच्छा से करते हुए देश- प्रदेशवासी अपने अपने घरों में प्रकाश देने वाले उपकरणों को ही बंद रखे।