कोरोना संक्रमण के चलते किराना समानों की महंगाई चरम पर

कोरोना संक्रमण के चलते किराना समानों की महंगाई चरम पर


कोरोना नहीं महंगाई बना सिरदर्द

 चांपा, 01 अप्रैल | चांपा थाना क्षेत्र में जहां लोग कोरोना संक्रमण तथा इसके चलते आपातकाल जैसे हालात का सामना करने में लोगों का जहां पसीना छूट रहा है वही अब रोजमर्रा के राशन सामग्री और साग सब्जियों के दाम आसमान पर पहुंच रहा है,  हर दिन हर पल बढ़ रही महंगाई को लेकर लोग खासे परेशान नजर आ रहे हैं  दुकानदार एवं खरीददार के द्वारा बढ़ती महंगाई को लेकर तू तू मैं मैं की नौबत आ रही है जिस पर फिलहाल प्रशासन का कहीं पर कोई नजर नहीं है जिसके चलते राशन विक्रेता तथा इसी प्रकार के रोजमर्रा  एवं जरूरतों की चीजों को  उपलब्ध कराने वाले अब कालाबाजारी करने में उतर आए है,हर दिन जरूरी सामानों का मूल्य अपने आप बढ़ने लगे हैं.

जिसे लेकर लोग दुकानदार से उलझने को विवश हो रहे हैं तथा दुकानदार ऊपर से सप्लाई नहीं होने तथा दाम बढ़ने का हवाला देकर लोगों से अनाप-शनाप दाम वसूलने में लगे हुए है,क्या यह सही है कि ऊपर से जरूरी सामानों का आवक नहीं हो रहा है,या दुकानदार तथा व्यवसाई कृतिम कमी बताकर लोगों से जमकर वसूली करने में लगे हुए है,क्या सचमुच वर्तमान दौर कालाबाजारी का आ चुका है। जैसे इसी प्रकार के अनेकों प्रश्न जनता के मन में कौतूहल  का विषय बन गया है और यदि इसका सच्चाई स्थानीय निकाय सहित जिला प्रशासन को जानना है तो इसका वे स्वयं  ग्राहक बनकर वस्तु स्थिति का आकलन किया जा सकता है.

आखिरकार दुकानदार तथा व्यवसाय वस्तु तथा सामानों का दोहरा कीमत वसूल रहे हैं या नही, पर यह सत्य है कि दुकानदार परिस्थिति का फायदा उठाते हुए लोगों को लूट का शिकार बना रहे हैं आज जो वस्तु जिस कीमत में बिक रही है कल यही वस्तुओं को डबल कीमत में बेचने का फिराक में दुकानदार लोगों को ठग रहे हैं यदि जिला प्रशासन के द्वारा इस पर कदम नहीं उठाया गया तो कालाबाजारी सहित लूट के चलते लोगों का जीवन यापन करना दूभर हो जाएगा , विपत्ति के समय में किराना व्यवसाई इस तरह का कालाबाजारी करने से नहीं चूक रहे हैं तो निश्चित ही इन लोगों के ऊपर प्रशासन को अपना शिकंजा कसनी चाहिए ताकि आम जनता व्यापारियों के लूट का शिकार ना बन सके |