breaking news New

फर्जी मस्टररोल तैयार कर गबन मामले में 06 वर्ष से फरार आरोपी गिरफ्तार

फर्जी मस्टररोल तैयार कर गबन मामले में 06 वर्ष से फरार आरोपी गिरफ्तार

डभरा।  मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि वर्ष 2014-15 में ग्राम पंचायत देवगांव के अंतर्गत मनरेगा ( महात्मा गाँधी रोजगार गारंटी योजना ) के अंतर्गत कुल 11 कार्यों के लिए लगभग एक करोड़ चार लाख रूपये स्वीकृत किया गया था। 

 फर्जी मस्टररोल तैयार कर एवं फर्जी सामाग्री का बिल लगाकर शासकीय राशि का आहरण कर  गबन किया गया।  शिकायत पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत जांजगीर चांपा के आदेशानुसार गठित टीम द्वारा ग्राम पंचायत देवगांव में मनरेगा के तहत की गई कार्य में हुई अनियमितता की जांच की गई ।

 जिसमें ग्राम पंचायत द्वारा तात्कालिन मुख्य कार्यपालन अधिकारी एल . एन . बंजारे जनपद पंचायत मालखरौदा , तकनीकी समन्वयक अनूज कुमार भार्गव , तकनीकी सहायक , विजय सतपथी , सहायक प्रोग्रामर आदित्य कौशिश मनरेगा , डाटा एन्ट्री आपरेटर विरेन्द्र उपाध्याय , सचिव सागर दास वैष्णव तथा रोजगार सहायक श्याम दुलारी के द्वारा कार्य केजांच पश्चात जांच एंजेसी द्वारा की दी गई प्रतिवेदन के मुताबिक निर्माण कार्य हेतु स्वीकृत राशि एक करोड़ चार लाख से कुल ( मूल्यांकन लगभग अठठासी लाख ) रूपये का भुगतान किया गाया , जबकि जांच उपरांत किये गया इकतीस लाख रूपया किया गया है। 

 इस तरह से लगभग कुल रूपया 48 लाख अधिक राशि का बिना काम अधिक काम दिखाकर मूल्याकंन कर राशि आहरण कि गई है जांच प्रतिवेदन के आधार पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत माल्खरौदा  पी आर यदु के रिपोट पर धारा 409,420,467,468,34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध करते हुए विवचेना में लिया गया। 

 आरोपी सागर दास वैष्णव , श्याम दुलारी एवं विजय कुमार सतपथी को विधिवत गिरफतार इनके विरुद्ध चालान क्रमांक 356/16 तैयार किया जाकर चालान न्यायालय जेएमएफसी इभरा में पेश कर केश नं .598 / 16 दिनांक 05.12.16 प्राप्त कि गया । तथा आरोपी 1. एल एन , बंजारे , 2. अनूज कुमार भार्गव , 3.आदित्य कौशिक , 4 . विरेन्द्र उपाध्याय 5. विमला कश्यप के विरुद्ध धारा 173 ( 8 ) जा . फौ . के विवेचना जारी रखी गई है । आरोपी विरेन्द्र उपाध्याय के खिलाफ थाना डभरा में अपराध क्रमांक 365/14 धारा 409,420,467,468,34 भादवि का भी दर्ज है जिसमें इन्हें माननीय उच्च न्यायालय बिलासपुर से अग्रिम जमानत मिल चुका है । 

पुलिस अधीक्षक ,  पारूल माथूर IPS , अतिरीक्त पुलिस अधीक्षक महोदय ,  मधुलिका सिंह , SDOP  बी.एस.खुटिया के मार्गदर्शन एवं निर्देशानुसार 06 वर्षों से फरार आरोपी विरेन्द्र उपध्याय पिता स्व . राधेश्याम उपध्याय उम 44 वर्ष साकिन  गिरफ्तार कर सूचना जारिये मो 0 , RM व नोटिस के उनके परिजन को दिया गया । आरोपी विरेन्द्र उपध्याय को न्यायिक रिमांड पर भेजा जाता है ।

 उक्त कार्यावाही में थाना प्रभारी निरीक्षक डी.आर.टंडन , निरीक्षक आर.डी.मिश्रा , उप निरी.बी.एन. बनाफर , गोपाल सतपथी , आरक्षक 519 मनोज जाना , महिला आरक्षक 686 सबिना बानो का महत्वपूर्ण योगदान रहा है ।