breaking news New

रिटायर्ड आईएएस अधिकारी के घर से छुड़ाई गई नाबालिग लड़की..12 वर्षीय लड़की सालों से नौकरानी का काम कर रही थी..तस्करी करके लाने का आरोप है अफसर पर!

रिटायर्ड आईएएस अधिकारी के घर से छुड़ाई गई नाबालिग लड़की..12 वर्षीय लड़की सालों से नौकरानी का काम कर रही थी..तस्करी करके लाने का आरोप है अफसर पर!

भुवनेश्वर. सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी दीनानाथ पांडा के पैतृक गांव में स्थित घर से कथित तौर पर घरेलू सहायिका के रूप में काम करने वाली 12 वर्षीय एक लड़की को चाइल्डलाइन और नयापल्ली पुलिस ने छुड़ा लिया. पांडा दिसंबर 1992 से अप्रैल 1995 के बीच गंजम के कलेक्टर थे.

चाइल्डलाइन के अधिकारियों ने गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए नाबालिग लड़की को छुड़ा लिया। नयापल्ली पुलिस स्टेशन में पांडा, उनके बेटे और बहू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। पांडा का बेटा हैदराबाद के एक लॉ यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के रूप में काम करता है और उसकी बहू आईआरसी गांव में एक अंग्रेजी माध्यम का स्कूल चलाती है।

प्रारंभिक जांच के अनुसार, लड़की को नवंबर, 2020 में उसके गांव बेरहामपुर से तस्करी कर लाया गया था और घरेलू सहायिका के रूप में लगाया गया था। उसके पिता एक रिक्शा चालक हैं और मां घरेलू सहायिका के रूप में काम करती है। भुवनेश्वर चाइल्डलाइन के निदेशक बेनुधर सेनापति ने कहा कि लड़की पांचवीं कक्षा में पढ़ रही थी, जब उसे भुवनेश्वर लाया गया था।

लड़की को फिलहाल अतिरिक्त बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया और विश्व जीवन सेवा संघ द्वारा संचालित एक ओपन शेल्टर में भेज दिया गया। सेनापति ने कहा, "हमने ओडिशा राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, खुर्दा जिला बाल संरक्षण अधिकारी और भुवनेश्वर डीसीपी को आगे की जांच के लिए भी मामले की सूचना दी है।" एक मामला दर्ज किया गया है और जांच जारी है।

यह मामला तब सामने आया जब लड़की के पिता ने एक रिपोर्ट लिखाते हुए कहा कि उपरोक्त आइएएस अधिकारी कई सालों से उसकी बिटिया को अपने घर पर रखे हुए हैं. फिलहाल लड़की ने किसी तरह के शोषण से इंकार किया है लेकिन नाबालिग लड़की से बाल श्रम करवाने के आरोप में कार्यवाही हो सकती है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.