breaking news New

जानलेवा जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए दस लाख बच्चों को लगाए जाएंगे टीका

 जानलेवा जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए दस लाख बच्चों को लगाए जाएंगे टीका

रायपुर।  स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव ने आज प्रदेश में जैपनीज इन्सेफेलाइटिस टीकाकरण अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ किया। अभियान के अंतर्गत पांच जिलों बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कोन्डागांव और धमतरी के लगभग दस लाख बच्चों को टीके लगाए जाएंगे। यह अभियान 18 दिसम्बर तक संचालित किया जाएगा। इस दौरान इन जिलों के एक वर्ष से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों को जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से बचाव के लिए टीके लगाए जाएंगे।   

स्वास्थ्य मंत्री  सिंहदेव ने टीकाकरण कार्यक्रम का ऑनलाइन शुभारंभ करते हुए कहा कि इस अभियान से वहां जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से होने वाली मौतों को रोका जा सकेगा। पहले भी बस्तर जैसे क्षेत्रों में अभियान चलाकर और बच्चों का टीकाकरण कर इस बीमारी को नियंत्रित किया गया है। इस जानलेवा बीमारी के बारे में सभी नागरिकों और माता-पिता को जागरूक रहना चाहिए। इससे बचाव ही सबसे बेहतर रास्ता है। सरकार टीकाकरण के माध्यम से इस बीमारी को बच्चों तक पहुंचने से रोकने की पूरी कोशिश कर रही है।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले की सराहना करते हुए कहा कि वे दुर्गम और दूरस्थ क्षेत्रों में लगातार पहुंचकर लोगों की सेवा कर रहे हैं। मलेरिया मुक्त बस्तर अभियान की सफलता में भी इन टीमों की बड़ी भूमिका है। उन्होंने उम्मीद जताई कि स्वास्थ्य विभाग की प्रतिबद्धता और सक्रियता से इस टीकाकरण अभियान को सफल बनाकर हम जैपनीज इन्सेफेलाइटिस से भी प्रदेश को मुक्त रखने में कामयाब होंगे। स्वास्थ्य विभाग की अपर मुख्य सचिव  रेणु जी. पिल्लै, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला, राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर, यूनिसेफ, यूएनडीपी व विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि तथा महिला एवं बाल विकास और नगरीय प्रशासन विभाग के अधिकारी भी ऑनलाइन शुभारंभ कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंस से शामिल हुए।